अंतागढ़ टेपकांड में दो नए चेहरे कौन? बड़े राजनीतिक तूफान के संकेत, फिरोज सिद्धिकी ने जारी किया पोस्टर

रायपुर। जिस अंतागढ़ टेप कांड ने सूबे की सियासत को इन दिनों फिर से गरमा दिया है. अब इस टेपकांड को लेकर एक बड़े तूफान आने के संकेत मिल रहे हैं. दरअसल टेपकांड का खुलासा करने वाले फिरोज सिद्धिकी ने सोशल मीडिया में एक नया पोस्टर जारी कर बवाल मचा दिया है.

पोस्टर में सीडी के केन्द्र में फिरोज सिद्धिकी की फोटो है और सीडी के चारों ओर अंतागढ़ मामले में आरोपी बनाए गए पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी, पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह के दामाद डॉ पुनीत गुप्ता, मंतुराम पवार और राजेश मूणत हैं लेकिन इन सबके साथ दो और लोगों के गोल घेरे बने हैं जिनमें काली इमेज लगी हुई है. यानी कि इसका तात्पर्य यह है कि फिरोज सिद्धिकी दो और अज्ञात लोगों के नामों का खुलासा करने का संकेत दे रहे हैं.

पोस्टर के सामने आते ही यह सवाल सामने आ खड़ा हुआ है कि आखिर काले घेरे में वो दो लोग कौन हैं जिसका संकेत फिरोज सिद्धिकी ने रिलीज किये अपने पोस्टर मे दिया है. आपको बता दें कि 2014 के उपचुनाव में कांग्रेस से उम्मीदवार मंतुराम पवार ने नामांकन वापस लेने के आखरी दिन अपना नाम वापस लेकर सबको चौंका दिया था. इस मामले से जुड़ा एक कथित टेप सामने आया था.

गौरतलब है कि किरणमयी नायक ने हाल ही में एक एफआईआर दर्ज कराया है उसमें उनका आरोप था कि भाजपा की ओर से राजेश मूणत और पुनीत गुप्ता ने 2014 के अंतागढ़ उपचुनाव में तत्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार को आर्थिक प्रलोभन देकर खरीद लिया था. इसके लिए उन्होंने अजीत और अमित जोगी के साथ मिलकर साजिश रची थी. इस मामले में मंतूराम पवार रुपये लेकर नाम वापस ले लिया था. यह पूरी तरह खरीद-फरोख्त और षड़यंत्र का मामला है.

किरणमयी नायक ने यह भी कहा था कि उनके पास इस मामले के ऑडियो क्लिप मौजूद है. किरणमयी ने इन आरोपों के साथ पंडरी थाने में धारा 171E, 171F, 406, 420, 120आईपीसी और धार 9, 13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत एफआईआर कराई थी.

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।