इस चुनाव में इसे नहीं सुना तो क्या सुना…सुनिए गीतकार ‘राजन’ का वो गीत जिसे कुमार विश्वास ने साझा किया है, ‘आने वाले हैं शिकारी मेरे गांव में…’

रायपुर। ‘आने वाले हैं शिकारी मेरे गांव…..जनता चिंता की है मारी मेरे गांव…’. चुनाव में जनता और नेताओं की स्थिति क्या होती है इसे आप इस गीत को सुनकर बहुत ही बारिकी से समझ सकते हैं. गीतकार राजेन्द्र राजन ने चुनाव में एक ऐसी गीत लिखी है कि उसे कवि कुमार विश्वास ने अपने ट्विटर पर साझा किया है.  चुनाव, सियासत और नेताओं पर किया गया इससे बढ़िया कटाक्ष क्या होगा. जहां जनता या कहिए कि मतदाताओं से किस-किस तरह वादें किए जाते हैं, किस-किस तरह से उन्हें लुभाया जाता है. गीत सुनिए और आनंद लीजिए….

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।