कोरोना का संकट टला नहीं है, हनुमान जयंती पर पढ़ें हनुमान चालीसा और सुंदरकांड- शैलेश नितिन

रायपुर। काँग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कोरोना के संकट के मद्देनजर लोगों से हनुमान की शरण मे जाने का आग्रह किया है। शैलेश नितिन त्रिवेदी ने एक पोस्ट लिखा है, जिसमें उन्होंने लोगों से हनुमान जयंती पर उनकी शरण मे जाने के लिए आग्रह किया है। अपनी पोस्ट में शैलेश ने हनुमान जयंती पर हनुमान चालीसा और सुंदरकांड का पाठ करने का आग्रह किया है।

शैलेश का ये पोस्ट उस वक़्त आया है जब काँग्रेस समेत विपक्ष का बड़ा धड़ा मोदी के दिये जलाने और ताली बजाने की मुहिम पर उन्हें आड़े हाथों ले रहा है।

हनुमान जयंती का मौका चुना है। शैलेश ने अपनी पोस्ट में बकायदा हनुमान जयंती की तिथि और समय का उल्लेख करते हुए शुभ मुर्हूत की जानकारी दी है।

शैलेश ने अपनी पोस्ट में राम चरितमानस के दोहों को लिखते हुए अपनी बात को जस्टिफाई करने की कोशिश की है। शैलेश ने अपनी पोस्ट में ये बताया कि राम और हनुमान का नाम संकट से दूर करता है। उन्होंने लिखा है कि संकट में सभी लोग भगवान हनुमान को याद करते है। शैलेश ने कहा कि हनुमान जयंती के मौके पर हनुमान चालीसा, बजरंग बाण और सुंदर कांड का पाठ अकेले में करना चाहिए।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने अपनी फेसबुक पर लिखा है –

“संकट कटे मिटे सब पीरा जो सुमिरे हनुमत बलबीरा…हर संकट में हर पीड़ा में हर विपत्ति के समय हम सब भगवान का स्मरण करते हैं….भगवान राम का नाम स्मरण विपत्ति के समय हर तरह से सहायता करता है

जपहिं नामु जन आरत भारी, मिटहिं कुसंकट होहिं सुखारी
दीन दयाल बिरद समभारी, हरहु नाथ मम संकट भारी…भगवान राम भी हर समय हनुमान जी काही स्मरण करते हैं…सीता माता की खोज हो या लक्ष्मण जी को शक्ति लगने के समय संजीवनी बूटी लाने की बात हो, भगवान राम ने हनुमान जी को ही ऐसे चुनौतीपूर्ण कार्यों के लिये चुना, इसीलिए हनुमान जी को संकटमोचक कहा जाता है

आज शाम 7 बजे से पूर्णिमा लग रही है और चैत्र पूर्णिमा ही हनुमान जी का जन्म दिवस है

आप सब से प्रार्थना करता हूं कि इस अवसर पर आज शाम 7 बजे से शुरू करके सुबह 5 बजे से और कल पूर्णिमा उदया तिथि होने के कारण कल दिन भर रामचरितमानस का अपने-अपने घरों में भगवान के सामने बैठकर एकांत में पाठ करें…राम चरित मानस के सुंदरकांड में हनुमान जी के चरित्र का विशेष वर्णन है इसलिए सुंदरकांड का पाठ भी कर सकते हैं

हर प्रकार के संकट से छुटकारा दिलाने वाले हनुमान जी तो हनुमान चालीसा बजरंग बाण हनुमान बाहुक का पाठ करने से भी प्रसन्न होते हैं….भगवान राम की भक्ति करने वाले और भगवान राम का स्मरण करने वाले हनुमान जी के प्रिय होते हैं

सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करते हुये हनुमान जयंती के पावन अवसर पर हम सब स्वयं की अपने परिवार की अपने नगर गांव टोला मोहल्ला की अपने प्रदेश की अपने देश की और संपूर्ण मानव जाति के कल्याण के लिए भगवान राम और राम भक्त हनुमान जी की आराधना करें….हमारे देश धर्म और संस्कृति की पूजा के नियमों के अनुरूप भगवान और भक्त के बीच कोई नहीं आना चाहिये

बोलिए लखनसियावररामचंद्र भगवान की जय
बोलिए राम – भक्त हनुमान की जय जय जय”

गौरतलब कि आज शाम से हनुमान जयंती पूर्णिमा के मौके पर शुरू हो रही है। कल उसकी उदया तिथि को पूरे देश मे भगवान की जयंती पूजा पाठ करके मनाई जाएगी।- शैलेश नितिन त्रिवेदी

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।