देखिये वीडियो- खौफ की वजह से नहीं पहुंची पुलिस तो छबिन्द्र कर्मा पहुंच गए शव लेने, नक्सलियों ने की थी ठेकेदार की गला रेंत कर हत्या

दंतेवाड़ा। नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के कामालूर-पंडेवार रेलवे स्टेशन के पास जंगल में एक ठेकेदार की निर्मम तरीके से हत्या कर उसका शव फेंक दिया था. नक्सलियों के खौफ की वजह से घंटों पुलिस भी मौके पर नहीं पहुंची. लेकिन जब इसकी जानकारी बस्तर टाइगर के नाम से मशहूर दिवंगत महेन्द्र कर्मा के बेटे छबिन्द्र कर्मा को लगी तो वो खुद शव लेने जंगल पहुंच गए. इसका एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें वे कुछ व्यक्तियों के साथ जंगल से शव उठवाकर उसे एंबुलेंस में भिजवा रहे हैं. बताया जा रहा है कि ठेकेदार का नाम गणेश नायर है. ठेकेदार लेबर पेमेंट करने जब गया था उस दौरान नक्सलियों ने गला रेंत कर उसकी हत्या कर दी थी और उसकी गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया था. जिस जगह नक्सलियों ने हत्या की थी वहां पेड़ों पर पंपलेट भी चिपका कर रखे थे.

आपको बता दें कि कर्मा परिवार खुद नक्सलियों के निशाने पर है. महेन्द्र कर्मा की हत्या नक्सलियों ने झीरम घाटी में तकरीबन 5 साल पहले कर दी थी. छबिन्द्र कर्मा सहित पूरे परिवार को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है. छबिन्द्र भी नक्सलियों के निशाने पर हैं उसके बावजूद उन्होंने खतरा मोल लेकर मौके पर पहुंचे और सबको इंसानियत का पाठ पढ़ा दिया.

देखिये वीडियो

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।