पिछली सरकार में शहादत का अपमान हुआ, पटेल और कर्मा के परिवार को चुतुर्थ श्रेणी में नौकरी देने पत्र भेजा गया था

रायपुर। झीरम कांड में मारे गए कांग्रेसी नेता और पूर्व नेता प्रतिपक्ष महेन्द्र कर्मा के बेटे को अनुकंपा नियुक्ति देने का मामले में मचे बवाल के बाद सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि पिछली सरकार में शहादत को अपमानित करने का काम हुआ था. महेंद्र कर्मा और ननद कुमार पटेल के परिवार को पिछली सरकार ने चतुर्थ श्रेणी में नौकरी देने का पत्र डाक से भेजा था.

सीएम भूपेश ने कहा कि सिर्फ आशीष कर्मा को ही नहीं, नक्सल हमले में शहीद पूर्व आईजी मरावी के परिजनों को भी हमने अनुकम्पा राज्य प्रशासन में दिया है. ये दूसरी नियुक्ति है. उन्होंने इस मामले में भाजपा द्वारा आपत्ति दर्ज कराने पर कहा कि शहीदों की वर्दी को कूड़ा में फेंकने वाले शहीदों का सम्मान क्या जाने.

आपको बता दें महेन्द्र कर्मा के बेटे आशीष कर्मा को डिप्टी कलेक्टर के पद पर अनुकंपा नियुक्ति देने का फैसला कैबिनेट की बैठक में भूपेश सरकार ने लिया था. इस मामले को लेकर भाजपा ने सरकार पर जमकर निशाना साधा था. पूर्व आईएएस और भाजपा नेता ओपी चौधरी ने भी सरकार के इस निर्णय पर कई सवाल उठाए थे.

इसे भी पढ़ें

महेन्द्र कर्मा के बेटे को डिप्टी कलेक्टर बनाए जाने के फैसले पर ओपी चौधरी ने उठाया सवाल, कहा- कर्मा परिवार की तुष्टिकरण के लिए फैसला, कांग्रेस ने कहा- उस दौरान कहां थी सद्भावना

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।