प्रदेश में समर्थन मूल्य पर 75 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य, अब तक 52 लाख टन धान की हुई खरीदी- अकबर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में एक हजार 995 धान उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी एक नवम्बर 2018 से लगातार चल रही है. एक नवम्बर 2018 से लेकर 4 जनवरी 2019 तक दस लाख 62 हजार 749 किसानों से 51 लाख 95 हजार टन से अधिक धान की खरीदी की जा चुकी है। प्रदेश के जांजगीर-चाम्पा जिले में सबसे अधिक मात्रा में धान की खरीदी हुई है. जांजगीर-चाम्पा जिले में 205 उपार्जन केन्द्र हैं, इनमें 96 हजार 601 किसानों से चार लाख 84 हजार 933 टन से अधिक धान समर्थन मूल्य पर खरीदे जा चुके हैं. सबसे कम दो हजार 608 टन धान की खरीदी दंतेवाड़ा जिले में हुई है.

खाद्य मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज यहां बताया कि इस साल लगभग 75 लाख टन धान समर्थन मूल्य पर खरीदने का लक्ष्य रखा गया है. अधिकारियों ने बताया कि चार जनवरी 2019 तक बस्तर जिले में 35 हजार 636 टन, बीजापुर जिले में 11 हजार 729 टन, कांकेर जिले में एक लाख 58 हजार 829 टन, कोण्डागांव जिले में 44 हजार 729 टन, नारायणपुर जिले में चार हजार 367 टन, सुकमा जिले में 12 हजार 296 टन, बिलासपुर जिले में दो लाख 56 हजार 725 टन, कोरबा जिले में 68 हजार 579 टन, मुंगेली जिले में एक लाख 79 हजार 70 टन, रायगढ़ जिले में तीन लाख चार हजार 975 टन तथा बालोद जिले में तीन लाख 64 हजार 327 टन धान समर्थन मूल्य पर खरीदे जा चुके हैं.

अकबर ने बताया कि बेमेतरा जिले में तीन लाख 12 हजार 588 टन, दुर्ग जिले में दो लाख 76 हजार 189 टन, कवर्धा जिले में एक लाख 67 हजार 176 टन, राजनांदगांव जिले में चार लाख 11 हजार 804 टन, बलौदाबाजार 4 लाख 10 हजार 527 टन, धमतरी जिले में तीन लाख 26 हजार 878 टन, गरियाबंद जिले में एक लाख 96 हजार 147 टन, महासमुंद जिले में चार लाख 32 हजार 909 टन, रायपुर जिले में तीन लाख 62 हजार 80 टन, बलरामपुर जिले में 73 हजार 885 टन, जशपुर जिले में 33 हजार 671 टन, कोरिया जिले में 36 हजार 750 टन, सरगुजा जिले में 59 हजार 506 टन तथा सूरजपुर जिले में 80 हजार 591 टन धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर हो चुकी है। खाद्य मंत्री ने बताया कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का काम सभी एक हजार 995 उपार्जन केन्द्रों में 31 जनवरी 2019 तक चलेगा.

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।