फोटोशूट के चक्कर में 80 फीट ऊंचे फूलपाड़ झरना से नीचे जा गिरे दो दोस्त, एक की मौत, एक गंभीर…सुरक्षा और लापरवाही बनी वजह

पंकज सिंह, दंतेवाड़ा। जिले 80 फीट ऊंचे फूलपाड़ झरना में फोटोशूट करना आज दो दोस्तों को भारी पड़ गया. दोनों झरने के बीच बहाव में आते ही सीधे 80 फीट नीचे जा गिरे. इस घटना में एक मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल है.

ये घटना कुआकोंडा से 15 किलोमीटर दूर फूलापड़ की है. यहां बस्तर अंचल का एक बेहद खूबसूरत झरना है. इसे देखने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं. लेकिन यहां पर्यटन के लिहाज न कोई सुरक्षा है और नहीं सुविधा. ऐसे में खतरों की बीच यहां अक्सर जिंदगी रहती है.

शायद जानलेवा खतरे फूलपाड़ में झरने की खूबसूरती को निहारने और उसे कैमरे में कैद करने पहुँचे तीन दोस्त सुभरनाथ, सनित और तामेश्वर अंजान थे. गीदम ब्लॉक के तुमनार गांव के रहने वाले तीनों दोस्त फूलफाड़ में झरने को देखने पहुँचे तो सीधे ऊंचाई पर जा पहुँचे. फिर मौत के खतरों से अनजान और एक बड़ी लापरवाही के साथ सुभरनाथ और सनित ऊंचाई से बहते झरने के बीच फोटोशूट के लिए जा पहुँचे. दोनो की फोटोशूट कर रहा था तीसरा दोस्त तामेश्वर.

लेकिन अनहोनी बता कहां आती है. इससे पहले की सुभरनाथ और सनित खुद को संभालपाते पैर फिसलते ही नीचे जा गिरे. और दूर फोटो खींच तामेश्वर कुछ दोनों को बचा पाता उनके सामने उनके मित्र 80 फीट नीचे गहरे पत्थरों के बीच थे. तामेश्वर ने तत्काल संजीवनी 108 को फोन किया. संजीवनी एक्सप्रेस मदद के लिए पहुँची भी. जैसे-तैसे घायलों को एंबुलेस तक लाया गया. लेकिन अस्पताल पहुँचने से पहले रास्ते में सुभरनाथ ने दम तोड़ दिया. जबकि गंभीर रूप से घायल सनित की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. इलाज अभी जारी है.

आपको बता कि यहां पहले भी इसी तरह के हादसे हो चुके हैं लेकिन प्रशासन सुरक्षा के इंतजाम अब तक नहीं किए हैं. जबकि यहां सालाना प्रदेशभर से बड़ी संख्या में सैलानी पहुँचते हैं। सरकार को इस ओर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है.

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।