बजट अपडेट: पूर्व रमन सरकार की तुलना में जानिए भूपेश सरकार के 90 हजार 910 करोड़ का आय और व्यय

रायपुर. विधानसभा बजट सत्र की कार्यवाही में भूपेश बघेल ने शुक्रवार को सदन में बजट पेश किया. यह बजट किसान व गरीब के समृद्धि गांव की खुशहाली, स्वास्थ्य सुविधाओं, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के वर्गों के हिसाब से रखा गया है. छत्तीसगढ़ की चार चिन्हारी नरवा गुरुवा घुरुवा बारी पर काम करते हुए पेश किया गया. भूपेश बघेल ने 2019-20 सत्र के लिए 90 हजार 910 करोड़ का बजट पेश किया है. पिछले बजट के अपेक्षा इस बार 10.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जिसमें आर्थिक क्षेत्र के लिए 44 प्रतिशत बजट, सामाजिक क्षेत्र के लिए 36 प्रतिशत बजट और अन्य के लिए 20 प्रतिशत बजट रखा गया है.

दरअसल 2018-19 सत्र का बजट 83 हजार 96 करोड़ रुपए का था. अब 2019-20 का बजट अनुमान 91 हजार 542 करोड़ का है. इसलिए इस बार पिछले बजट के अपेक्षा 10.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

राज्य सरकार का राजस्व

  • भूराजस्व में 700 करोड़, 3 प्रतिशत
  • उर्जा में 2090 करोड़, 9 प्रतिशत की
  • परिवहन 1600 करोड़, 7 प्रतिशत की
  • आबकारी में 5 हजार करोड़, 22 प्रतिशत
  • स्टांप एवं पंजीयन में 1550 करोड़, 7 प्रतिशत
  • वाणिज्य कर में 11 हजार 990 करोड़, 52 प्रतिशत

ये है बजट का अनुमान

  • पिछले बजट में 83 हजार 179 करोड़ का व्यय (खर्च) हुआ था, इस बार 90 हजार 910 करोड़ के व्यय का अनुमान है.
  • पिछली सरकार का राजस्व व्यय 68 हजार 423 करोड़, इस बार 78 हजार 595 करोड़ का व्यय.
  • मौजूदा सरकार में पूंजीगत व्यय 14 हजार 454 करोड़, इस बार 12 हजार 110 करोड़ का अनुमान है.
  • पिछली सरकार में सकल वित्तीय घाटा 9 हजार 997 करोड़ था, इस बार 10 हजार 881 करोड़ अनुमान है.
  • पिछली सरकार में राजस्व अधिक्य 4 हजार 445 करोड़ था, इस बार 1 हजार 151 करोड़ का अनुमान.

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।