विधानसभा- शराब बंदी के मसले पर धर्मजीत ने सरकार को घेरा, कहा- कल से सरकारी दुकानों पर ताला जड़ जाना चाहिए

रायपुर। विधानसभा के शीतकालीन अधिवेशन का तीसरा दिन काफी हंगामाखेज रहा. सत्ता पक्ष ने आज अनुपूरक बजट पेश किया. अनुपूरक बजट के बहस में हिस्सा लेते हुए छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) के विधायक धर्मजीत सिंह ने सरकार पर जमकर हमला बोला. धर्मजीत ने किसानों के कर्जमाफी का मुद्दा उठाया उन्होंने कहा कि सरकार जो ऋण माफ कर रही है उसमें मध्यम और दीर्घकालीन ऋण माफ नहीं होगा. ट्रेक्टर और कृषि के दूसरे उपकरण पर भी कर्जा माफ होना चाहिए. प्रदेश में 3 साल से किसान अकाल झेल रहा है.

उन्होंने कहा कि दिल बड़ा करिये. सभी का कर्ज माफ करिये. धर्मजीत ने शराब बंदी का मामला उठाते हुए सरकार को घेरने का प्रयास किया उन्होंने कहा कि शराब बंदी करिये. गुंडागर्दी करते हैं शराब वाले. 15 दिन बाद भी शराब बंदी नहीं हुई. सरकार की दुकानों पर कल ताला जड़ जाना चाहिए. धर्मजीत ने कानन पेंडारी का मामला उठाते हुए कहा कि 15 दिन पहले यहां सफेद टाइगर की मौत हो गई. सांप के काटने से उसकी मौत हुई है. उन्होंने सरकार से व्यवस्था सुधारने के लिए कहा है. उन्होंने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि विभाग में जमकर भ्रष्टाचार मचा हुआ है. शेर को खिलाए जाने वाले मांस में कमीशन खोरी हो रही है.

उन्होंने अचानकमार टाइगर रिजर्व में आदिवासियों को गिरफ्तार करने का मुद्दा भी सदन में उठाया उन्होंने कहा कि अचानकमार में आदिवासियों को गिरफ्तार किया गया, अधिकारियों का कहना है कि करंट लगा रहे हैं जबकि अचानकमार के 29 गांव में बिजली ही नहीं है. प्रदेश में हाथियों के आतंक पर बोलते हुए धर्मजीत ने हाथियों के लिए कॉरिडोर बनाए जाने की मांग की उन्होंने कहा कि प्रदेश में हाथी की समस्या विकराल है. हाथी के लिए कॉरिडोर की स्थापना होनी चाहिए.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।