सात फेरे लेने से पहले दूल्हे की सड़क हादसे में मौत, चार दिन बाद होनी थी शादी, घर में पसरा मातम

मनोज यादव, कोरबा. दूल्हा चार दिन बाद घर से बारात निकालकर अपनी जीवन संगनी के साथ सात फेरे लेने वाला था. लेकिन सात फेरे लेने से पहले ही वह अपनी दुल्हन को अलविदा कह गया. दूल्हा बनने से पहले ही उसकी सड़क हादसे में मौत हो गई. जवान बेटे की मौत से घर में मातम पसरा हुआ है. मामला कोरबा जिले के हरदी बाजार रेकी का है.

मृतक युवक आशीष की शादी नवापारा निवासी रवीना के साथ तय हुई थी. आज यानी 10 अप्रैल को मंडप और 13 अप्रैल को बारात निकलना था. खुशी की इस माहौल में घर में दूर दराज से रिश्तेदारों का आना भी शुरु हो गया था. गांव में खुशी का माहौल था. मंगलवार शाम घर में कुछ सामान की कमी पड़ गई, तो आशीष खुद ही सामान लेने के लिए बाइक से दुकान जाने निकल गया. दुकान में जाकर सामान लेता है और शादी की खुशी में दुकानदार के साथ ठंडा पीकर हंसते हुए घर की ओर रवाना हो जाता है.

मृतक आशीष

सामान लेकर वापस घर लौटते समय सामने से आ रही ट्रैक्टर से जा टकराया. जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. इसमें ट्रैक्टर चालक की लापरवाही बताई जा रही है. ट्रैक्टर का एक ही लाइट जल रहा था जिससे आशीष उसे बाइक समझ बैठा और हादसे का शिकार हो गया. घटना की सूचना तत्काल परिजनों और पुलिस को दी गई. पुलिस ने ट्रैक्टर को जब्त कर ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है.

वहीं घटना के बाद से दुल्हन के घर में गमगीन माहौल बना हुआ है. दुल्हन हाथों में मेहंदी लगाकर शादी की रश्में निभा रही थी और बारात का इंतजार कर रही थी. लेकिन बारात आने और डोली उठने से पहले ही उसका सुहाग उजड़ गया. अब जिन दो घरों में खुशियां बिखरने वाली थी, वहां मौत का मातम पसर गया.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।