छत्तीसगढ़ से इसी महीने 70-80 लोग जुआ खेलने जाने वाले थे विदेश, ईडी ने भंडाफोड़ कर जब्त किए 30 हजार यूएस डॉलर की विदेशी मुद्रा

हेमंत शर्मा,रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ईडी की टीम ने हवाला कारोबार के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है. रायपुर स्थित टूर ऑपरेटर चाहना टूर एंड ट्रेवल्स प्रा.लि. भारतीय नागरिको को विदेशी टूर पैकेज के बहाने विदेश में जुआ खिलाने की गतिविधियों में लिप्त है. टूर ऑपरेटर के जरिए सितम्बर माह के मध्य में 70 से 80 लोगों को जुआ खिलाने के लिए बेलारूस ले जाने वाला था. इस खुफिया सूचना के बाद ईडी ने दबिश देकर अभी तक करीब 30 हजार यूएस डॉलर की विदेशी मुद्रा जब्त की है. यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगा. 

रायपुर स्थित एक व्यवसायिक और एक आवासीय परिसर और राजनांदगाँव स्थित एक परिसर शामिल है. इस कार्यवाही में अभी तक बड़े पैमाने पर अलग-अलग बैंक खातों में जो कि रिश्तेदारों, कर्मचारियों एवं अन्य लोगों के नाम पर खोले गए थे, नकदी जमा होने के सबूत मिले हैं. इस नकदी को इन खातों में आपस में घुमा कर विदेशी मुद्रा खरीद तथा विदेश में खर्च के लिए प्रयोग किया जा रहा था.

टूर ऑपरेटर भारतीय लोगों को बड़े समूहों में ऐसे देशों में ले जाता है जहां भारतीयों के लिए आसान वीजा कानून है और जुआ खेलने की सुविधा (कसीनो) आसानी से उपलब्ध है. इसके लिए लोगों से धन राशि ज्यादातर नकद में जमा ली जाती है. विदेशी विनिमय रेगुलेशन) प्रबंधन अधिनियम से बचने के लिए नकद में विदेशी मुद्रा प्रति व्यक्ति 50 हजार रूपये से कम देकर अलग-अलग नामों से खरीदी जाती थी.

इस कार्यवाही में विदेशी मुद्रा को “कैरियर” के द्वारा भौतिक रूप से देश के बाहर ले जाने के सबूत भी मिले है. इस बार की आयोजित गतिविधि में टूर ऑपरेटर सितम्बर माह के मध्य में 7080 लोगों को जुआ खिलाने के लिए बेलारूस ले जाने वाला था. जिसके लिए विदेशी मुद्रा को भौतिक रूप से “कैरियर” के द्वारा ले जाया जाना था. इस कार्यवाही में अभी तक लगभग 30 हजार यूएस डॉलर की विदेशी मुद्रा जब्त की जा चुकी है. इसके साथ ही साथ अलग-अलग मुद्राओं में विदेश में अलग-अलग कसीनो में खर्चे के सबूत भी मिले है.

इसके साथ ही मॉरीशस स्थित एक कंपनी से सम्बंधित दस्तावेज भी मिले है, जिसमें एक भारतीय को निदेशक बनाया गया था और इस कंपनी के द्वारा भी इस रैकेट की गतिविधिया संचालित की जा रही थी. सर्च की कार्यवाही अभी तक चालू है तथा अन्य सबूत भी इकठ्ठा किये जा रहे है. इस मामले में विदेशी विनिमय प्रबंधन अधिनियम 1999 के तहत आगे कार्यवाही जारी रहेगी.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।