चंपारण में वल्लभाचार्य की जन्मस्थली पर दर्शन के लिए पहुंचा अहमदाबाद का परिवार कोरोना की वजह से फंसा, रायपुर सांसद सुनील सोनी ने मुख्यमंत्री से की चर्चा

केंद्र की एडवायजरी की वजह से फिलहाल भेजा जाना संभव नहीं, सुविधाओं का रखा जाएगा ख्याल

रायपुर- कोरोना वायरस संक्रमण के चलते चंपारण में अहमदाबाद का एक परिवार फंस गया है. ट्रेन, फ्लाइट, इंटर स्टेट बस सर्विसेज के साथ-साथ निजी गाड़ियां प्रतिबंधित है. परिवार ने रायपुर सांसद सुनील सोनी से मदद मांगी है. हालांकि सीमाएं प्रतिबंधित किए जाने की वजह से फिलहाल फौरी राहत परिवार को नहीं मिल पाई है. सांसद ने परिजनों के रहने-खाने की व्यवस्था किए जाने का आश्वासन दिया है. सांसद सुनील सोनी ने इस बारे में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी चर्चा की है.

बता दें कि राजिम के करीब चंपारण वल्लाभाचार्य की जन्मस्थली है. गुजरात से बड़ी तादात में श्रद्धालू दर्शन के लिए सालभर यहां आते रहते हैं. गुजरात के अहमदाबाद का एक परिवार भी दर्शन के लिए यहां पहुंचा था, लेकिन लौट पाता, उससे पहले ही कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने देशव्यापी लाॅकडाउन कर दिया गया. फंसे परिवार ने रायपुर सांसद सुनील सोनी से मदद मांगी, जिसके बाद उन्होंने तत्काल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से संपर्क कर फंसे हुए परिवार को गुजरात भेजे जाने की व्यवस्था किए जाने का अनुरोध किया.
सुनील सोनी ने कहा कि इस विषय पर मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार की एडवायजरी की वजह से फिलहाल यह संभव नहीं है. हमने भी देश भर में फंसे राज्य के लोगों से कहा है कि वह जहां हैं, वहां रहे. उनकी मदद यहां से भेजी जाएगी. उन्होंने कहा कि यदि किसी राज्य का कोई व्यक्ति यहां फंसा है, तो सरकार उनकी बुनियादी सुविधाओं का ख्याल रखेगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।