ट्रांसपोर्टर जमीन विवाद केस: कांग्रेस नेता आसिफ मेमन की सफाई, कहा-बेबुनियाद हैं सभी आरोप

शिवम मिश्रा, रायपुर। राजधानी में ट्रांसपोर्टर की जमीन हथियाने के मामले में कांग्रेस नेता आशिफ मेमन मोकाती सहित 14 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किया गया है. आसिफ मेमन मोकाती पर बीती रात रोडवेज ट्रांसपोर्ट के कार्यालय और गोडाउन में  तोड़फोड़ कराने का आरोप लगा है. इस पर कांग्रेस नेता आसिफ मेमन ने सफाई दी है. उन्होंने कहा सभी आरोप बेबुनियाद हैं.

Close Button

आसिफ मेमन ने कहा कि सरस्वती नगर स्थित पाल ट्रांसपोर्ट जो पटवारी हल्का नंबर 104 में स्थित है, जिसका कुल रकबा लगभग 40 हजार स्क्वैर फीट है. उस जमीन के कोने में एक घिरा हुआ टुकड़ा है, जिसे पाल ट्रांसपोर्ट ने एशियन रोडवेज के मालिक कुलदीप सिंह अहलूवालिया को कुछ समय के लिए उपयोग करने के लिए मौखिक रूप से दे दिया था.

जगह खाली करने के एवज में 10 लाख रुपयों की मांग

उन्होंने कहा कि कुलदीप सिंह आहलूवालिया और पाल ट्रांसपोर्टर के बीच शुरू से ही कुछ पैसों का लेनदेन भी चल रहा था. कुलदीप सिंह अहलूवालिया को कही से गलत जानकारी हुई की पाल ट्रांसपोर्ट ने मुझे अपनी जमीन बेच रहा है, जिसके बाद कुलदीप सिंह अहलूवालिया ने जगह खाली करने के एवज में 10 लाख रुपयों की मांग की थी. इसकी लिखित शिकायत 24 मार्च को सरस्वती नगर थाना पुलिस को दी गई थी.

बेबुनियाद हैं आरोप
आसिफ मेमन ने कहा कि यह जो आरोप मुझ पर लगा है कि बेबुनियाद है. इस बात से मेरा कोई लेना देना नहीं है. एशियन रोडवेज ट्रांसपोर्ट वाले वहां किराएदार थे या नहीं थे. मुझे इस बात की भी जानकारी नहीं है. मुझ पर आरोप लगते ही मैंने पॉल ट्रांसपोर्ट वाले से बातचीत की. उन्होंने मुझे पूरा डॉक्यूमेंट दिया है. उनकी रजिस्ट्री की कॉपी, b-1 खसरा सभी चीज उन्होंने मुझे दी है

इन दोनों के बीच क्या मामला है
इस बात की जानकारी मुझे नहीं है. पाल ट्रांसपोर्ट के मालिक हरविंदर सिंह से बातचीत करने पर पता चला कि कुलदीप सिंह आहलूवालिया उनसे पैसे की मांग कर रहा है. अगर कोई किराएदार जमीन खाली करने के एवज में पैसों की मांग कर रहा है, तो यह सिर्फ ब्लैकमेलिंग है. कुलदीप सिंह आहलूवालिया को यह गलतफहमी हुई है कि उस जमीन को मैं खरीदने वाला हूं.

दरअसल, आसिफ मेमन के खिलाफ सरस्वती नगर थाने में धारा 147, 149, 456, 506, 427 के तहत अपराध दर्ज किया गया है. सरस्वती नगर थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, कुछ दिनों पहले आमानाका इलाके के एशियन रोडवेज के कार्यालय और गोडाउन पर जेसीबी चलाकर तोड़फोड़ की गई थी. एशियन रोडवेज के मालिक का आरोप था कि जमीन हड़पने के इरादे से आसिफ मेमन मोकाती अपने कुछ साथियों के साथ तोड़फोड़ की है.

इसे भी पढ़ें : ट्रांसपोर्टर ने कांग्रेस नेता पर लगाया धमकी देने का आरोप, ऑफिस में चलवा दी बुलडोजर, थाने पहुंचा मामला

पीड़ित कुलदीप सिंह अहुलवालिया की शिकायत आवेदन पर सरस्वती नगर थाने में आसिफ मेमन सहित 14 लोगों के खिलाफ धारा 147, 149, 506, 456, 427 के तहत FIR दर्ज किया गया है. इसके बाद से आसिफ मेमन ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि मेरे को फंसाने के इरादे से गलत आरोप लगाया गया है.

इसे भी पढ़ें:  खबर का असर : ट्रांसपोर्टर की जमीन हड़पने के आरोप में कांग्रेस नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज, जानिए पूरा वाकया…

बता दें कि एशियन रोडवेज के मालिक भूपेंद्र सिंह अहलूवालिया ने आरोप लगाया था कि आमानाका इलाके में उसका ऑफिस और गोडाउन है. आसिफ मेमन ने कई बार उन्हें ऑफिस आकर जमीन देने के लिए दबाव बनाया. जमीन देने से इंकार करने पर उन्हें फोन पर धमकी दी गई. राजनैतिक पहुंच का धौंस दिखाकर बात बिगड़ जाने की धमकी लगातार दी गई. मामले की शिकायत पिछले महीने एसएसपी ऑफिस में की गई थी, लेकिन अभी तक कुछ भी कार्रवाई नहीं की गई. मामले में लल्लूराम डॉट कॉम में खबर प्रकाशित होने के बाद पुलिस हरकत में आई थी.

इसे भी पढ़े- Aggressiveness towards Hacking: Indian Organizations under Chinese Cyber Attack

स्पोर्ट्स की ये खबरें जरूर पढ़ें

मनोरंजन की ये खबरें जरूर पढ़ें

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।