बारिश से पानी-पानी हुआ एयरपोर्ट: फ्लाइट पकड़ने यात्रियों को करनी पड़ी ट्रैक्टर की सवारी, VIDEO सोशल मीडिया पर VIRAL

बेंगलुरु। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू के केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे में लगातार हो रही बारिश से जलभराव की समस्या पैदा हो गई. जिससे अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा. कई यात्री ट्रैक्टर में सवार होकर एयरपोर्ट पहुंचे. भारी बारिश के कारण हवाई अड्डे के टर्मिनल के पास घुटने तक पानी भर गया. पानी की वजह से टैक्सी घंटों तक फंसी रही और उनमें से कुछ बंद हो गई.

केआईएएल के परिसर में सैकड़ों कैब बारिश के पानी में आंशिक रूप से डूबे रहे. जिसके बाद इनमें तकनीकी खराबी आ गई. हवाई अड्डा टर्मिनल की यात्रा के लिए अपने सामान के साथ ट्रैक्टर पर सवार अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो गए हैं. हालांकि पुलिस विभाग समेत अधिकारियों ने सोमवार आधी रात तक स्थिति पर काबू पा लिया.

डीसीपी (नॉर्थ ईस्ट डिवीजन) अधिकारी सी.के. बाबा ने बताया कि पुलिस विभाग केआईएएल में हवाई अड्डे के अधिकारियों के साथ जलभराव को दूर करने में मदद की और देर रात तक टोल गेट के पास यातायात की सुविधा मुहैया कराई. उन्होंने कहा कि पानी को बाहर निकालने के लिए पंपिंग मशीनों का इस्तेमाल किया गया. सभी वरिष्ठ अधिकारी एयरपोर्ट परिसर में स्थिति का प्रबंधन और निगरानी करने के लिए मौजूद थे.

डीसीपी ट्रैफिक (नॉर्थ डिवीजन) सजीत वीजे ने कहा कि उन्होंने मंगलवार सुबह स्थिति की समीक्षा की और पानी को बहा दिया गया है. हवाईअड्डा अधिकारियों ने कहा कि टर्मिनल के पास का पानी बहा दिया गया है. सूत्रों ने कहा कि केआईएएल के परिसर में नम्मा मेट्रो के चल रहे काम और अन्य विकासात्मक गतिविधियों के कारण जलभराव हुआ.

हालांकि मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि राज्य की राजधानी बेंगलुरु में लगातार बारिश जारी रहेगी. एयरपोर्ट अधिकारी स्थिति को संभालने की तैयारी कर रहे हैं. इस बीच भारी बारिश से पूरा सिलिकॉन शहर प्रभावित हुआ, क्योंकि कई इलाकों में घरों में पानी भर गया. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बेंगलुरु और बेंगलुरु ग्रामीण जिलों सहित कर्नाटक राज्य के 18 जिलों में भारी बारिश होगी. अधिकांश जिलों में जलाशय भरे हुए हैं. कई जिलों में लोग बाढ़ के खतरे का सामना कर रहे हैं.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।