whatsapp

‘अब रूक जा जरा…’, कलेक्टर रजत बंसल ने अपनी आवाज के जादू से बनाया लोगों को दीवाना, देखिए वीडियो…

जगदलपुर। बस्तर कलेक्टर IAS रजत बंसल शुक्रवार को बिल्कुल अलग अंदाज में ही दिखे… गिटार पर थिरकती अंगुलियों के बीच जिला पंचायत CEO रोहित व्यास क्लैप बाक्स पर थाप दे रहे थे. वहीं माइक थामे कलेक्टर रजत बंसल अपनी आवाज का जादू बिखेर रहे थे. गाने के बोल थे.”…अब रूक जा जरा….”

मौका था विदाई समारोह का, जो आईएएस रजत बंसल के बस्तर में कलेक्टर के तौर पर लंबे सफल और शानदार पारी के बाद बलौदाबाजार में ट्रांसफर किए जाने के बाद पुलिस-प्रशासन की ओर से आयोजित किया गया था. कार्यक्रम के दौरान साथी अधिकारियों ने IAS रजत बंसल से गाने की फरमाईश कर दी. रजत बंसल भी मना नहीं कर सके और गाने के लिए तैयार हो गए. गाने में संगत की भी जरूरत थी, सो साथी अधिकारी जिला पंचायत सीईओ रोहित व्यास ने ताल देकर उनका साथ दिया.

कलेक्टर रजत बंसल ने खुद अपने स्वरचित गाने को गा रहे थे. जिस अंदाज में कलेक्टर ने विदाई समारोह में पूरे रिदम के साथ गाना गाया, उससे एक बात तो साफ थी कि रजत बंसल का सिंगिग टैलेंट कोई नया नहीं है, बल्कि वो पहले भी इस तरह गाते रहे हैं. वो बात दीगर है कि पहली बार है वे सार्वजनित तौर पर गाते हुए नजर आए. आयोजन में शामिल लोगों के लिए यह एक ऐसा अवसर बन गया जो सालों-साल उन्हें रजत बंसल की याद दिलाएगा.

बता दें कि 2012 बैच के IAS अफसर रजत बंसल बस्तर के बाद अब बलौदाबाजार कलेक्टर की जिम्मेदारी संभालेंगे. ये उनका लगातार तीसरा जिला होगा. सबसे पहले उन्हें धमतरी जिले की जिम्मेदारी मिली थी. उसके बाद बस्तर और अब बलौदाबाजार की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं. 2020 में कलेक्टर की जिम्मेदारी संभालने के बाद 2 साल के कार्यकाल में रजत बंसल ने बस्तर को पूरी तरह से बदल दिया.

फिर से चाहे बात “बादल” जैसे कला के बेहतरीन मंच की हो, STF कैंप को रिसोर्ट बनाने, या फिर जिले से सुदूर क्षेत्र में योजनाओं के क्रियान्वयन की. कलेक्टर रजत बंसल की इस कार्यशैली के खुद मुख्यमंत्री भी मुरीद थे. एक कार्यक्रम के दौरान जब कलेक्टर रजत बंसल का मुख्यमंत्री ने फीडबैक लिया था तो भीड़ का रिस्पांस देखकर मुख्यमंत्री भी खुले तौर पर कलेक्टर रजत बंसल की तारीफ की थी.

हमेशा लो प्रोफाइल रहकर जनता के बीच अपनी पहुंच रखने वाले आईएएस रजत बंसल को कोरोना काल में में साइकिल से अस्पतालों का दौरा करते सभी ने देखा था. इसके अलावा सुदूर नक्सल क्षेत्र में ग्रामीणों के बीच पहुंचना, ग्रामीणों के घर पर ही रात्रि विश्राम के अलावा नक्सलियों को मुख्य धारा में जोड़ने के लिए किए गए प्रयासों के लिए याद किए जाएंगे. बस्तर में कलेक्टर रजत बंसल की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले दो दिनों से लगातार उनका विदाई समारोह हो रहा है.

देखिए वीडियो –

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
लल्लूराम डॉट कॉम की खबरें English में पढ़ने यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Back to top button