ट्रेनिंग फिर से शुरू करने को लेकर बीसीसीआई ने जारी की एसओपी, तो अरुण लाल, व्हाटमोर की क्यों बढ़ गई मुश्किल

स्पोर्ट्स डेस्क- कोरोनाकाल के चलते लंबे समय से क्रिकेट बंद था, लेकिन अब भारत में भी इसे धीरे धीरे लाइन पर लाने की कोशिश जारी है, आईपीएल का आयोजन सितंबर से यूएई में होना है इसकी तैयारी में बीसीसीआई और सभी फ्रेंचाईजी टीमें जुट चुकी हैं, इतना ही नहीं अब घरेलू क्रिकेट को भी शुरू करने की तैयारी में अब बीसीसीआई लग चुका है।

इसीलिए तो अब बीसीसीआई ने फिर से ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर राज्य क्रिकेट संघों को मानक संचालन प्रक्रिया जारी की है। जिसमें संबंधित केंन्द्रों में ट्रेनिंग शुरू करने से पहले एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करना होगा, एसओपी में शिविर में हिस्सा लेने से ऐसे लोगों को प्रतिबंधित किया गया है जिनकी उम्र 60 साल से ज्यादा है, या फिर जिनका किसी भी तरह का इलाज चल रहा है। और इस नियम का असर अब बंगाल के कोच अरुण लाल और बड़ौदा के कोच ऑस्ट्रेलिया के डेव व्हाटमोर पर पड़ेगा। क्योंकि इन दोनों ही खिलाड़ियों की उम्र 60 साल से ऊपर है। अरुण लाल की उम्र जहां 65 साल है तो वहीं व्हाटमोर की उम्र 66 साल है। ऐसे में इन दोनों ही कोच के लिए इस नियम के बाद अब बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है।

बीसीसीआई ने जो एसओपी जारी की है, उसके तहत खिलाड़ियों को एक फॉर्म में हस्ताक्षर करने होंगे कि वो कोविड-19 महामारी के बीच ट्रेनिंग फिर से शुरू करने को लेकर जोखिम से वाकिफ हैं।

बीसीसीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक खिलाड़ियों, स्टाफ और संबंधित हितधारकों का स्वास्थ्य और सुरक्षा पूरी तरह से संबंधित राज्य क्रिकेट संघों की जिम्मेदारी होगी।

loading...

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।