whatsapp

Rajasthan Congress Crisis: अशोक गहलोत-सचिन पायलट की अनबन पर कांग्रेस के सख्त तेवर, जानिए राहुल गांधी क्यों बोले- ‘दोनों ही नेता…’

Rahul Gandhi On Rajasthan Congress Crisis News: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने तीन दिन पहले एक दूसरे पर कड़े बयान दिए थे. अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को देशद्रोही करार दिया था, जिसके बाद पायलट ने मुख्यमंत्री को बचकानी बयानबाजी से बचने की सलाह भी दी थी. अब इस मामले पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रतिक्रिया दी है.

राहुल गांधी ने कहा कि दोनों नेता कांग्रेस के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. भारत जोड़ो यात्रा के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि “दोनों नेता कांग्रेस के लिए संपत्ति हैं.” कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने यह भी दावा किया कि गहलोत-पायलट विवाद का उनके राजस्थान दौरे पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

राहुल गांधी ने और क्या कहा ?

कांग्रेस सांसद ने कहा कि जब भी मैं किसी नए राज्य में प्रवेश करता हूं तो आपसे (मीडिया) कहा जाता है कि दिक्कत होगी. अब आप कह रहे हैं कि राजस्थान में दिक्कत होगी. सच तो यह है कि यह यात्रा कांग्रेस से भी आगे निकल गई है. यह अब भारत की आंतरिक आवाज है. यह कहां पहुंचेगा और कहां नहीं जाएगा, कोई नहीं कह सकता.

कांग्रेस ने राजस्थान के मुख्यमंत्री को फटकार लगाते हुए रविवार (27 नवंबर) को कहा कि वह राजस्थान में ‘कड़े फैसले’ लेने से नहीं हिचकेगी और अशोक गहलोत को कुछ शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था.

अशोक गहलोत और सचिन पायलट ने क्या कहा ?

अशोक गहलोत ने गुरुवार को कहा था कि एक गद्दार मुख्यमंत्री नहीं हो सकता. आलाकमान सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बना सकता. एक आदमी जिसके पास 10 विधायक नहीं हैं, जिसने विद्रोह किया. उन्होंने पार्टी को धोखा दिया, वह गद्दार हैं.

इस पर सचिन पायलट ने कहा था कि एक वरिष्ठ नेता को ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. अशोक गहलोत अनुभवी हैं, उन्हें ऐसे बचकाने बयान नहीं देने चाहिए.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button