भूपेश सरकार को है युवाओं की फिक्र, 15 हजार शिक्षकों, 1384 सहायक प्राध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया जारी, नौकरी में स्थानीय युवाओं को मौका

रायपुर- छत्तीसगढ़ में सत्ता की बागडोर संभालते ही भूपेश सरकार एक के बाद एक बड़े फैसले ले रही है. धान का समर्थन मूल्य, बोनस और फसल बीमा की राशि किसानों को दी है. सरकार ने युवाओं के लिए शिक्षक, सहायक प्राध्यापक, स्टॉफ नर्स के पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ की है. इससे युवाओं में भारी उत्साह है. इसके अलावा स्थानीय युवकों को आयु सीमा में छूट दी गई है. सरकार की महत्वपूर्ण योजना नरवा, गरवा, घुरवा अऊ बाड़ी के तहत गौ सेवा के अलावा महिला समूह व ग्रामीणों को नौकरी मिल रहा है.

इन पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ-

~ राज्य सरकार द्वारा तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के पदों पर स्थानीय युवाओ की भर्ती के लिए सरगुजा एवं बस्तर में कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड का गठन करने का निर्णय लिया गया है.

~ राज्य सरकार द्वारा 15 हजार शिक्षकों की भर्ती की जा रही है। दो दशक के बाद सहायक शिक्षक, उच्च श्रेणी शिक्षक और व्याख्याता के पदों पर सीधी भर्ती को लेकर युवाओं में भारी उत्साह है.

~पिछले तीन साल से शिक्षाकर्मियों की भर्ती भी नहीं की जा सकी थी. इससे पढ़ाई पर असर हो रहा था। मैदानी क्षेत्र समेत बस्तर और सरगुजा के आदिवासी इलाकों में विज्ञान, गणित, कामर्स के शिक्षकों की कमी दूर होगी.

~राज्य सरकार द्वारा पीएससी के माध्यम से लम्बे समय से रिक्त प्रदेश के शासकीय महाविद्यालयों में सहायक प्राध्यापकों के 1384 पदों पर भर्ती की जा रही है. इसके साथ ही 61 क्रीड़ा अधिकारियों की भी भर्ती की जाएगी.

~ स्टॉफ नर्स के 800 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शीघ्र प्रारंभ होगी.

~मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों से बस्तर के युवाओं को नई सौगात मिली है. अब एनएमडीसी के नगरनार स्टील प्लांट के ग्रुप-सी और ग्रुप-डी की भर्ती की परीक्षा अब दंतेवाड़ा में ली जाएगी. भर्ती परीक्षा स्थानीय स्तर पर कराए जाने से बस्तर के ज्यादा से ज्यादा युवा इसमें शामिल हो सकेंगे.

~ सरकारी नौकरियों में छत्तीसगढ़ के मूल निवासियों को आयु सीमा में पांच साल की छूट देने का फैसला किया है. अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष में दी गई 5 वर्ष की छूट की अवधि को पांच वर्ष तक बढ़ा दिया गया है. अन्य विशेष वर्गों के लिए अधिकतम आयु सीमा में देय छूट यथावत रखते हुए सभी छूट को मिलाकर उनके लिए अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष पूर्व की तरह रहेगी.

~नरवा, गरुवा, घुरवा, बारी योजना से महिला समूहों एवं ग्रामीणों को रोजगार मिल रहा है.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।