whatsapp

Big Breaking: एमपी स्कूल शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई, हड़ताल करने वाले 53 शिक्षकों को किया सस्पेंड, निलंबन के खिलाफ शिक्षक आज से आमरण अनशन करेंगे

अमृतांशी जोशी,भोपाल। मध्यप्रदेश में पहली बार स्कूली शिक्षा विभाग की बड़ी कार्रवाई सामने आई है। शिक्षा विभाग ने परीक्षा के समय हड़ताल करने वाले 53 शिक्षकों को सस्पेंड (निलंबित) कर दिया है। प्रदेश के जबलपुर, बालाघाट और रायसेन में सबसे ज़्यादा शिक्षकों पर कार्रवाई हुई है।

एक एक करके शिक्षकों के निलंबन के आदेश जारी हुए हैं। तिमाही परीक्षा के पहले शिक्षकों का धरना स्कूली शिक्षा विभाग को पसंद नहीं आया। जिला स्तर पर सूची बनाकर निलंबन आदेश जारी किए गए।आजाद अध्यापक शिक्षा संघ के तहत 13 सितंबर से हड़ताल जारी थी। राजधानी में अनिश्चितकालीन धरने की घोषणा की गई थी। अनुमति न मिलने के कारण शिक्षक संघ राजधानी में प्रदर्शन नहीं कर सके थे। राजधानी भोपाल से कोई भी शिक्षक हड़ताल में शामिल नहीं हुआ था। निलंबन के डर से पहले ही कई शिक्षकों ने हड़ताल से दूरी बना ली थी।

इधर निलंबन के खिलाफ शिक्षक आज से आमरण अनशन करेंगे। संघ के सभी पदाधिकारी जबलपुर में आमरण अनशन करेंगे। सरकारी स्कूलों के 75 हजार से ज्यादा शिक्षक हड़ताल पर होने का दावा किया है। शिक्षक जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन दे रहे हैं। पुरानी पेंशन बहाली, पदोन्नति समेत छह सूत्रीय मांगों को लेकर शिक्षक हड़ताल पर हैं। शिक्षक 13 सितंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं।

गोली लगने से 10 साल के बच्चे की मौत: पिता ने पड़ोसी पर बेटे को गोली मारने का लगाया आरोप, जांच में जुटी पुलिस

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button