BIG NEWS: कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार ने वीर सावरकर की तारीफ की, तीन साल से बंद सावरकर सरोवर का खुलवाया ताला, पार्टी के अंदर विरोध शुरू

कर्ण मिश्रा, ग्वालियर। कांग्रेस विधायक ने पार्टी लाइन से बाहर जाकर वीर सावरकर (Veer Savarkar) की तारीफ की है। ग्वालियर पूर्व विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार (Congress MLA Satish Sikarwar) ने वीर सावरकर की तारीफ की है। साथ ही तीन साल से बंद सावरकर सरोवर का ताला खुलवाया है। हिंदू महासभा के पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत ताला खोला गया है। हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के आग्रह पर कांग्रेस विधायक ने गुरुवार को ताला खुलवाया। वहीं मामले में कलेक्टर ने कहा कि नारियल फोड़ उद्घाटन करने वालों पर FIR दर्ज होगी। 

इसे भी पढ़ेः ‘टंट्या मामा’ के ताबीज पहनने से नहीं होगा Corona, पातालपानी में 1 लाख लोगों की भीड़ जुटाने पर संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर ने दिया अजीब बयान

तीन साल से बंद सावरकर सरोवर का ताला खुलवाने के बाद कांग्रेस विधायक ने कहा कि हमारे महापुरुषों जिन्होंने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी उनको कैद रखना अच्छी बात नहीं है। हिंदुत्व की दुहाई देने वाली प्रदेश सरकार का यह कृत्य निंदनीय है। सावरकर जी की प्रतिमा को कैद करने के हम सब खिलाफ हैं।

इसे भी पढ़ेः विक्षिप्त के साथ अमानवीयताः दो युवकों ने मानसिक दिव्यांग पर चढ़ाई मोपेड, बीच सड़क पर लात-घूसों से की पिटाई, वीडियो वायरल

वीर सावरकर महापुरुष नहीं मुखबिर थेः आरिफ मसूद

वहीं कांग्रेस (Congress) विधायक ने पार्टी लाइन से बाहर जाकर काम करने पर पार्टी के अंदर विरोध शुरू हो गया है। कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद (Congress MLA Arif Masood) ने कहा कि सतीश सिकरवार ने जो बयान दिया है वो पूरी तरह से गलत है। वीर सावरकर महापुरुष नहीं मुखबिर थे। वीर सावरकर ने हमेशा महात्मा गांधी का अपमान किया था। सतीश सिकरवार बीजेपी (BJP) से आए हैं, शायद वहां की संस्कृति भूले नहीं है। बयान देते वक्त भूल गए होंगे कि वर्तमान में  वो कांग्रेस पार्टी के विधायक हैं।

इसे भी पढ़ेः यूपी की तर्ज पर एमपी में भी बदले जाएंगे उर्दू और फारसी के शब्द

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!