Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

राकेश चतुर्वेदी/अमृतांशी जोशी,भोपाल। गुना मामले को लेकर सीएम हाऊस में हुई उच्चस्तरीय आपात बैठक में मृत पुलिसकर्मियों को शहीद का दर्जा देने का निर्णय लिया गया है। वहीं शहीद के परिजनों को सरकार की ओर से एक करोड़ का मुआवजा दिया जाएगा। उनके अंतिम संस्कार में जिलों के प्रभारी मंत्री भी शामिल होंगे।

सीएम निवास में हुई आपात बैठक में गुना में पुलिस और शिकारियों के बीच भिंड़त की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। बैठक में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, सीएस, एडीजी इंटेलिजेंस, पीएस गृह, पीएस मुख्यमंत्री सहित पुलिस के बड़े अधिकारी उपस्थित थे। डीजीपी भोपाल में नहीं होने के कारण बैठक में वर्चुअली जुड़ें। गुना जिला प्रशासन के बड़े अधिकारी भी बैठक से वर्चुअली जुड़ें।

इधर गुना जिले के आरोन की घटना को लेकर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह पटेल ने गृहमंत्री से इस्तीफा मांगा है। उन्होंने ट्वीट कर यह मांग की है। टि्वटर पर लिखा कि – गुना जिले के आरोन थाना क्षेत्र में एक SI सहित 2 पुलिसकर्मियों की हत्या “शिवराज नहीं-गुंडाराज” का प्रमाण! है। उन्होंने सवाल उठाया है कि जब पुलिस ही असुरक्षित है तो आमजन की सुरक्षा कौन करेगा? जो गृहमंत्री अपने ही कर्मियों की रक्षा नहीं कर सके, वे नैतिकता के नाते इस्तीफा दें।

पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने भी मामले को लेकर ट्वीट किया है। लिखा कि कल रात गुना जिले के आरोन थाने में पुलिस इंस्पेक्टर जाटव, प्रधान आरक्षक भार्गव व मीना की हिरण के शिकारियों ने हत्या कर दी। मैं इसकी घोर निंदा करता हूं। प्रशासन जांच कर अपराधियों को कठोर से कठोर सजा दिलवाएं। मां भारती शहीदों को अपने श्री-चरणों में स्थान दे।

इधर बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट में लिखा है कि गुना में पुलिस कर्मियों की हत्या करने वालों से खून की एक एक बूंद का हिसाब किया जाएगा। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि इस मुठभेड़ में एक शिकारी की भी मौत हुई है। वहीं पूरी घटना में अब तक 7 शिकारियों के शामिल होने की पुष्टि हुई है। निसार नाम के शिकारी को पुलिस की क्रॉस फायरिंग में गोली लगी जिसकी लाश मिल गई है। हमने सभी अपराधियों को चिन्हित कर लिया है और कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए जा चुके हैं। मामले में किसी को बक्शा नहीं जाएगा। नरोत्तम मिश्रा ने संकेत दिए है कि शाम तक दोषियों के खिलाफ हो सकती है कड़ी कार्रवाई। इनपुट मिलने पर पुलिस सही समय पर मौके पर पहुंची। इससे पता चलता है कि पुलिस सतर्क होकर काम कर रही है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">
Share: