विकास में बाधा कौन ? ग्रामीणों ने कैंप के विरोध में 45 से 48 जगह पर खोदी सड़क, पुलिस ने कहा- ग्रामीणों को बर्गला रहे नक्सली

जीवन सिरसान,बीजापुर। जिले के गंगापुर क्षेत्र में एक बार फिर सड़क काटने का मामला सामने आया है. आपने नक्सलियों को सड़क काटते देखा और सुना होगा. लेकिन इस बार गंगालूर और पुशनार होते हुए मिरतुर को जोड़ने वाली निर्माणाधीन सड़क को बुर्जी और पुशनार के ग्रामीणों ने खुदाई कर काट दिया है. ग्रामीणों ने सड़क को 45 से 48 जगहों से काटा है.. जिससे आवागमन भी बाधित हो गया है.

स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि सड़क निर्माण को लेकर कई बार सरकार को ज्ञापन सौंपा गया कि अंदरूनी इलाकों में सड़कों का निर्माण ना किया जाए. बावजूद इसके सरकार लगातार अंदरूनी इलाकों में सड़क बनाकर कैंप स्थापित करने का काम जोरों शोरों कर रही है. जिसके विरोध में ग्रामीणों ने कई बार रैली और धरना के माध्यम से प्रदर्शन कर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा था.

जिसके बाद अधिकारियों ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि वे इस बात पर विचार करेंगे. लेकिन अब तक अधिकारियों ने कोई इस बात पर कोई अमल नहीं किया. ग्रामीणों ने सड़क काटकर फोटो और पत्र मीडिया को भी भेजा है. ग्रामीणों का कहना है अगर सड़क उन इलाकों तक बनेगी, तो पुलिस उन तक पहुंचेगी. उनका कहना है कि पुलिस पहुंचकर उनसे मारपीट करती है. बेवजह घर से पकड़ कर फर्जी प्रकरण बनाकर न्यायालय पेश कर नक्सली बताती है. यही कारण है कि ग्रामीणों ने सड़क काटकर सड़क निर्माण का विरोध जताया है.

एडिशनल एसपी पंकज शुक्ला का कहना है कि नक्सलियों के इशारों पर सड़क काटी गई है. ग्रामीणों को बर्गलाकर नक्सली सड़क कटवा रहे हैं. जहां सड़क का निर्माण किया गया, वहां नक्सलियों ने सड़क को काट दिया है. नक्सलियों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर सड़क काटा है. इसकी जिम्मेदारी ग्रामीणों को लेने को कहा है. जिस कारण ग्रामीण ऐसा कर रहे हैं. बाकी यह कारतूत नक्सलियों की है. जबकि सुरक्षा बल के जवानों द्वारा ग्रामीणों की सुविधा के लिए सड़क का निर्माण किया गया है.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।