20 गांव में 15 दिनों से ब्लैकआउटः ग्रामीणों के साथ विधायक भी बैठे धरने पर, तब बिजली कंपनी ने सप्लाई का दिया आश्वासन

शंकर राय, बैतूल। जिले के भैंसदेही में किसान और ग्रामीण अघोषित बिजली कटौती और ब्लैकआउट से त्रस्त है। गांवों में कई दिनों से बिजली नहीं होने और शिकायत के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं हुआ, लिहाजा ग्रामीणों को विरोध में धरना प्रदर्शन करना पड़ा। धरने में क्षेत्रीय विधायक के बैठने के बाद बिजली कंपनी ने सप्लाई का आश्वासन दिया तब धरना समाप्त हुआ।

जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों के बढ़ते बिजली बिल एवं अघोषित बिजली कटौती की समस्या को लेकर कांग्रेस विधायक धरमू सिंग सिरसाम के नेतृत्व में ग्राम पंचायत धाबा में हजारों की संख्या में किसानों ने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान लगभग 15 से 20 गावों के ग्रामीणों ने क्षेत्रीय विधायक सिरसाम को अपनी समस्या से अवगत कराया। बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के 15 से 20 गांवों में पिछले 15 दिनों से बिजली सप्लाई पूरी तरह से बंद है। बिजली के अभाव में ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बार-बार शिकायत के बाद भी बिजली विभाग के आला अधिकारी ध्इयान नहीं दे रहे थे। विधायक के साथ किसानों और ग्रामीणों ने धरना प्रदर्शन किया और सूचना विभाग के अधिकारियों को पहुंची तब अधिकारियों ने ग्रामीणों को बिजली सप्लाई प्रारंभ किए जाने का आश्वासन विधायक को दिया।

कांग्रेस विधायक सिरसाम ने कहा कि किसानों की समस्या को लेकर ब्लॉक स्तर पर हमने धरना प्रदर्शन किया। अतिवृष्टि से नदी किनारे किसानों की फसल बह गई और बहुत नुकसान हुआ है। 15 से 20 गांव में लगातार 15 दिनों से बिजली सप्लाई बंद थी। जिसे लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया कि छल कपट और लच्छेदार भाषणों से जनता को लुभाते हैं जिसे जनता भी समझ चुकी है। विधायक ने कहा कि क्षेत्र के किसानों ने सांसद दुर्गादास उइके को अपनी समस्या बताई लेकिन उनके द्वारा इस मामले में अपना पल्ला झाड़ लिया। जानकारी कांग्रेस नेता पुरुषोत्तम तिवारी ने दी।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button