Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

प्रीत शर्मा, मन्दसौर। इनसे मिलिए… ये हैं 26 जनवरी! अगर आपको कोई इस तरह से किसी का परिचय करवाएगा तो आप एक पल के लिए आश्चर्य में पड़कर उसे ध्यान से देखेंगे। फिर सोचेंगे कि ये भी कोई नाम होता है। लेकिन मध्य प्रदेश के मन्दसौर जिले में एक एेसे व्यक्ति का हैं, जिनका नाम ’26 जनवरी’ है। इस नाम के कारण उन्हें कई बार दिक्कतें और मजाक का सामना करना पड़ा। फिर भी वो खुश हैं कि उनका जन्मदिन हर हिंदुस्तानी मनाता है। आइए आपको रुबरु करवाते हैं ‘मिस्टर 26 जनवरी’ से। 

इसे भी पढ़ेः छात्रा चीखती रही और दरिंदा अपनी हवस मिटाता रहा….प्री-बोर्ड एग्जाम की कॉपी जमा कर स्कूल से घर लौट रही नाबालिग से दुष्कर्म, खेत में छिपकर आने का इंतजार कर रहा था वहशी

असल में इनका पूरा नाम 26 जनवरी टेलर हैं। इनकी उम्र 55 साल है। इन्हें सभी लोग छब्बीस 26 के नाम से जानते हैं। इनके नाम के पीछे की कहानी भी बड़ी रोचक है। असल में इनके पिता सत्यनारायण टेलर एक शिक्षक थे।

इसे भी पढ़ेः VIDEO: सांसद प्रज्ञा ठाकुर सड़क पर मजार को लेकर कलेक्टर से भिड़ी, अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर अधिकारियों को लगाई फटकार, स्कूल मैदान पर नमाज पढ़ने पर भी हुई नाराज

26 जनवरी 1996 के दिन सुबह अपने स्कूल में झंडा वंदन कार्यक्रम कर रहे थे। तभी उन्हें किसी ने खबर दी कि उनके घर बेटा हुआ है। गणतंत्र दिवस की खुशी और घर में बेटे के जन्म ने शिक्षक सत्यनारायण टेलर को इतना भावुक कर दिया कि, उन्होंने अपने बच्चे का नाम 26 जनवरी ही रख दिया। लोगों ने कई बार समझाया भी कि बच्चे का नाम 26 जनवरी से बदल कर दूसरा रख दो, लेकिन पिता नहीं माने और सभी दस्तावेजों स्कूल के कागजात आदि में इस शख्स का नाम 26 जनवरी ही लिखवा दिया।

इसे भी पढ़ेः आमिर खान के दोस्त की आर्थिक तंगी के कारण हुई मौत, पत्नी बीड़ी बनाकर बच्चों का पेट पाल रही, अब तो अपने मित्र के परिवार की मदद कीजिए ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’

बचपन में दोस्त 26 कहकर बुलाते थे 

बचपन में दोस्त 26 कहकर बुलाते थे। कई जगह मजाक भी बनाते थे। कोई पहली बार मिलता और नाम सुनता तो वह भी हंसता था।  धीरे-धीरे  26 जनवरी को भी इस नाम की आदत पड़ गई और वह इसी में खुश रहने लगे। कहीं भी शासकीय नौकरी के लिए या शासकीय काम के लिए जब दस्तावेजों में इस व्यक्ति का नाम 26 जनवरी लिखा मिलता तो बहुत सारी दिक्कतें भी आती थी, क्योंकि ऐसा नाम पहले किसी ने नहीं सुना था।

नाम सुनकर परिवार के लोग मिलने आते हैं 

26 जनवरी कहीं भी रिश्तेदारों में या परिचितों में जाते हैं तो लोग उनका नाम सुनकर उनसे एक बार जरूर मिलते हैं। इस नाम को लेकर जहां बहुत सारी दिक्कतें आती है।वहीं 26 जनवरी टेलर नाम के इस शख्स को इस बात की खुशी है कि इनका जन्मदिन गणतंत्र दिवस के रूप में पूरे देश में मनाया जाता है। जब पूरा देश 26 जनवरी को याद करता है तो इन्हें अपने नाम को लेकर सारी तकलीफे छोटी लगने लगती है।

इसे भी पढ़ेः ‘मामा’ का चाइनीज तड़काः सीएम शिवराज चौपाटी पहुंचे, मंचूरियन, फ्राइड राइस, पनीर चिल्ली और चाऊमीन खाया, फालूदा और काजू बर्फी का भी चखा स्वाद, देखिए VIDEO 

बड़े प्यार से छब्बीस-छब्बीस बुलाते हैं 

26 जनवरी टेलर ने अपने नाम के साथ जीना सीख लिया है जिसमें थोड़ा रंज है। तो बहुत सारी खुशी भी है। हजारों लाखों की भीड़ में एक अलग नाम होने की कुछ परेशानियां हैं। तो एक अलग पहचान भी है। ऑफिस में सभी लोग इन्हें 26 के नाम से जानते हैं और बड़े प्यार से छब्बीस-छब्बीस की आवाज़ लगाते रहते हैं।

इसे भी पढ़ेः 6 साल की मासूम पर उमड़ा दो परिवारों का प्यार, बच्ची पर जताया अपना-अपना हक, बाल संरक्षण समिति के पास पहुंचा मामला 

 26 जनवरी के दिन लोगो साथ में लेते हैं सेल्फी 

26 जनवरी आने के पहले ही 26 जनवरी टेलर नाम के इस शख्स को पूरा स्टाफ और परिचित लोग जन्म दिवस की बधाइयां देते हैं। वहीं कई ऐसे लोग भी होते हैं, जो खास 26 जनवरी के दिन इस शख्स से मिलकर इसके साथ सेल्फी लेना पसंद करते हैं।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">
Share: