शादी में नहीं खिलाया मटन तो कर दिया बवाल, थाने में दूल्हा और दुल्हन को लेनी पड़ी शरण

दिल्ली. बिहार के कटिहार जिले के बरझल्ला गांव में एक बेटी की शादी पर मटन का ग्रहण ऐसा लगा कि कुछ ग्रामीण युवकों ने घर वालों द्वारा मांस-मछली नहीं खिलाने पर ना केवल बेटी की शादी रोक दी बल्कि दूल्हा-दुल्हन व बारातियों को भी जमकर पीटा. ग्रामीणों ने दूल्हा-दुल्हन समेत बारातियों की जमकर धुलाई कर दी गई. मारपीट करने वाले लड़की के गांव वाले ही थे. वजह सिर्फ ये की शादी की पार्टी में मांस-मछली, थाली से नदारद थी.

प्राप्त जानकारी के अनुसार हालात इस कदर बिगडे़ कि दूल्हा-दुल्हन मंडप पर सात फेरे भी नहीं ले सके और भागकर थाने पहुंचे. इसके बाद परिजन दोनों को लेकर थाना में शरण लेने को विवश हुए. इधर बारात में आये लोग भी किसी तरह से वहां से भागकर अपनी जान बचाई. शादी के उत्सव में रंगा घर रणक्षेत्र बन गया.

बताया जाता है कि ग्रामीण पूरण देवी की 19 वर्षीया बेटी रधिका कुमारी की शादी डंडखोरा प्रखंड के बिजौली गांव के संजय राय के पुत्र प्रमोद कुमार राय के साथ होनी थी. बारात भी आ चुकी थी और शादी की रस्म शुरू हो चुकी थी. मंडप पर दूल्हा-दुल्हन पहुंचे ही थे कि गांव के आठ-दस युवक वहां धमक गए. युवक इस बात पर अड़ गए कि जब तक उन लोगों को मीट या मछली नहीं खिलाया जाएगा, तब तक वे लोग शादी नहीं होने देंगे. इस दौरान घर वाले सहित गांव व बारात के कुछ लोग भी उन लोगों को घर वालों की कमजोर आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए समझाने के प्रयास में जुट गए. इसपर युवकों ने मारपीट शुरू कर दी. युवकों ने लाठी-डंडे चलाने शुरू कर दिए.

इस घटना में एक दर्जन से अधिक बाराती जख्मी हो गए. स्थिति यह हुई कि परिजन किसी तरह दूल्हा व दुल्हन को लेकर वहां से शरण लेने थाना पहुंच गए. इस संबंध में दुल्हन की मां के बयान पर नौ लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. दूल्हा-दुल्हन सहित परिजन की रात थाना परिसर में बीती. उसके बाद गांव के ही मंदिर में ही दुल्हा-दुल्हन ने सात फेरे लिए.

इस संबंध में थानाध्यक्ष, प्राणपुर, रंजय सिंह ने बताया कि लड़की की मां के आवेदन पर गांव के ही नौ लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है. पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर रही है. दोषियों के खिलाफ हर हाल में कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल दोनों की शादी कराकर उन्हें भेज दिया गया है.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।