BREAKING NEWS : कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में भारत को मिली बड़ी जीत, फांसी की सजा पर रोक, मिलेगा काउंसलर एक्सेस

हेग। पाकिस्तान द्वारा जासूसी के आरोप में पकड़े गए पूर्व भारतीय नौसैनिक कुलभूषण जाधव के मामले में भारत को बड़ी जीत मिली है. हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) ने पाकिस्तान सैन्य अदालत द्वारा दी गई फांसी पर रोक लगाने के साथ भारत को काउंसलर एक्सेस दिया है. न्यायालय की 16 सदस्यीय पीठ ने 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला सुनाया है.

कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना का पूर्व अधिकारी है, जिसे 29 मार्च 2016 को पाकिस्तान ने बलूचिस्तान से गिरफ़्तार करना बताया था. पाकिस्तान ने जाधव पर भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के लिए बलूचिस्तान प्रांत में विध्वंसक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया था. 10 अप्रैल 2017 को फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल (एफजीसीएम) ने मौत की सजा सुनाई.

भारत सरकार ने पाकिस्तान के सैन्य न्यायालय के फैसले के विरोध में हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में अपील दायर की थी, साथ ही भारत को जाधव से मिलने के लिए काउंसलर एक्सेस नहीं प्रदान करने की बात उठाई थी. अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने 10 मई, 2017 को जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी.

कुलभूषण जाधव का जन्म 1970 में महाराष्ट्र के सांगली में हुआ था. अवंती और सुधीर जाधव की संतान कुलभूषण ने 1987 में नेशनल डिफेन्स अकैडमी में प्रवेश लिया और 1991 में भारतीय नौसेना में शामिल हुए. सेवा-निवृत्ति के बाद ईरान में अपना व्यापार शुरू किया.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।