Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

चंडीगढ़। पंजाब में तख्तापलट के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आर-पार की लड़ाई के मूड में दिख रहे हैं. कैप्टन ने अब नवजोत सिद्धू को मूर्ख, जोकर और ड्रामेबाज तक कह दिया है. खास बात ये है कि सिद्धू पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष हैं, लेकिन फिर भी उनके खिलाफ कैप्टन लगातार बयानबाजी कर रहे हैं.

कैप्टन अमरिंदर सिंह कहते हैं कि सिद्धू राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा हैं. सिद्धू पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हैं, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता. अगर ऐसा है तो वे मुझे कांग्रेस पार्टी से निकाल दें.

पंजाब में प्रशासनिक फेरबदल जारी, अनिरुद्ध तिवारी बने नए चीफ सेक्रेटरी

 

हालांकि, इस पूरे विवाद पर अभी तक नवजोत सिद्धू ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. कैप्टन अपनी बात पर डटे हुए हैं कि सिद्धू एंटी नेशनल हैं. कैप्टन ने कहा कि कश्मीर बॉर्डर पर हमारे सैकड़ों जवान शहीद होते हैं, जख्मी होते हैं, जो आर्मी चीफ हमारे जवानों को मारने का हुक्म देता है, वह सिद्धू का दोस्त है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से भी उसकी दोस्ती है, ऐसे तो मेरी भी जान-पहचान है, लेकिन मैं किसी से नहीं मिलता, क्योंकि राष्ट्रीय सुरक्षा से ऊपर मेरे लिए कुछ नहीं.

जो एक मिनिस्ट्री नहीं चला पाया, वह पूरा पंजाब क्या चलाएगा : कैप्टन

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू ड्रामा करके लोगों को इकट्‌ठा कर सकते हैं. वे भीड़ इकट्‌ठी कर सकते हैं, लेकिन वोट नहीं ला सकते. लोकसभा चुनाव में सिद्धू को बठिंडा और गुरदासपुर की जिम्मेदारी दी थी, दोनों जगह सिद्धू ने प्रचार किया और दोनों ही सीटें कांग्रेस हार गई. सिद्धू हारें या जीतें, मैं उसका विरोध करूंगा. जो एक मिनिस्ट्री नहीं चला पाया, वह पूरा पंजाब क्या चलाएगा ?

PM Modi to Meet President Biden; Attend Quad Summit

 

सिद्धू की पत्नी नवजोत ने किया कैप्टन पर पलटवार

नवजोत सिद्धू के बचाव में उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू आगे आई हैं. उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू देशद्रोही हैं, तो उन्हें जेल के अंदर करवा दो. नवजोत कौर ने कैप्टन पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर सिद्धू राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा थे, तो उन्हें मंत्री क्यों बनाया? अपने साथ क्यों रखा? कैप्टन को कांग्रेस हाईकमान का काम पसंद नहीं, तो पार्टी छोड़ दें. मुझे भी अकाली दल पसंद नहीं था, तो मैंने छोड़ दिया.