Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

वीरेंद्र गहवई, बिलासपुर। देश में कोयले का संकट गहराया हुआ है, जिसका प्रभाव विद्युत आपूर्ति पर पड़ने की बात कही जा रही है. केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी इसी वजह से आज छत्तीसगढ़ दौरे पर हैं. तय कार्यक्रम के तहत केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी हवाई जहाज से बिलासपुर पहुंचे, यहां से वे सड़क मार्ग के जरिए गेवरा, दीपका कोल माइंस के निरीक्षण के लिए रवाना हुए हैं.

कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी के साथ कोल इंडिया के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल भी है. वे कोयला उत्पादन बढ़ाने को लेकर कोरबा जिले के दीपका, कुसमुंडा और गेवरा की कोल खदानों को लेकर अधिकारियों की बैठक लेकर उत्पादन की समीक्षा करने के साथ उत्पादन बढ़ाने पर विस्तृत चर्चा करेंगे. दौरे के दौरान केंद्रीय मंत्री के मेगा माइंस के निरीक्षण का प्लान है. बिलासपुर पहुंचे केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि देश में कोयले की पर्याप्त उपलब्धता है.

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय कोयला मंत्री आज छत्तीसगढ़ में, सीएम भूपेश बघेल ने कसा तंज, कहा- संकट नहीं तो फिर क्यों आ रहे…

केंद्रीय मंत्री जोशी ने कहा कि कोयले की कमी के कारण देश में विद्युत आपूर्ति में कोई बाधा नहीं आने वाली है. ऊर्जा मंत्रालय से उन्हें 1.9 मिलियन टन कोयले का डिमांड किया गया था, जिसके एवज में आज 2 मिलियन टन कोयले की सप्लाई की जा चुकी है. वहीं छत्तीसगढ़ प्रवास को लेकर कहा कि मेगा माइंस के निरीक्षण के बाद स्थिति को देखते हुए प्रोडक्शन में और तेजी लाने व कोयले की आपूर्ति सुनिश्चित करने के प्रयास किए जाएंगे.

इसे भी पढ़ें : BREAKING : दिनदहाड़े बैंक के कैशियर से 15 लाख की लूट, जांच में जुटी पुलिस

बता दें, छत्तीसगढ़ देश में 20 फीसदी कोयला सप्लाई करता है. साउथ-इस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड (SECL) की 41 खदानें हैं. कोरबा जिले की ही खदानों से एसईसीएल 130 लाख मीट्रिक टन कोयला निकालती है.

">
Share: