कोरोना से जंग जीतता दुर्ग: कई महीनों बाद लोगों ने ली राहत की सांस, महज 1 कोरोना मरीज की पहचान, अब तक का सबसे कम आंकड़ा

भिलाई। आज का दिन दुर्ग के लिए खास है, क्योंकि पिछले 16 महीने से दुर्ग जिला कोविड से लड़ रहा है. हेल्थ स्टाफ से लेकर प्रशासन हर मोर्चे पर अपनी तैनाती के साथ कोविड से दो-दो हाथ कर रहा है. इस बीच हमारे कई वॉरियर्स की जान भी गई. जिले में ही 1,791 लोगों की मौत हुई. हर दूसरे-तीसरे व्यक्ति ने अपना खोया. पहला और दूसरा दौर लोगों ने बहुत ही नजदीक से देखा. लोग अप्रैल-मई को याद कर सहम जाते हैं. अब वो दौर कोई भी वापस नहीं चाहता.

आज जिले के लिए खास इसलिए है क्योंकि कोरोना मरीजों की संख्या सबसे कम है. सिर्फ 1 पॉजिटिव मरीज की पुष्टि हुई है. प्रशासन की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन की माने तो जिले में 24 घंटे में 2501 लोगों ने कोरोना सैंपल कराया. इनमें से 1 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

8 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए हैं, लेकिन चिंता की बात अब भी ये है कि आज कोरोना से जिले में एक की मौत भी हुई है. प्रशासन के अधिकारियों की माने तो जिले में जिसकी आज मौत हुई है. उसे कोरोना के अन्य बीमारियों ने अपनी चपेट में लिया था. जिसकी वजह से रिकवरी में वक्त लगा और उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई.

बता दें कि जिले में आज 2501 लोगों ने कोरोना का सैंपल दिया. आज दुर्ग जिले में सिर्फ 1 कोरोना मरीज मिला. ये अब तक का सबसे कम आंकड़ा है, क्योंकि तीसरी लहर की आहट के बीच दुर्ग के लिए आंकड़े राहत वाले हैं. 2501 लोगों ने कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल दिया, जिसमें एक कोरोना मरीज मिला, जबकि सिर्फ 1 ही मरीज की मौत हुई. कभी पॉजिटिव मरीजों के मामले में दुर्ग देश के टॉप-10 जिलों में था, लेकिन आज के आंकड़े कोरोना से जंग जीतने की ओर इशारे कर रहे हैं.

देखिए वीडियो-

 

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।