छत्तीसगढ़: शातिर ने सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगे 80 लाख रुपये, शिकायत के बाद आरोपी गिरफ्तार

बालोद। महिला एवं बाल विकास विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने के आरोप में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. आरोपी ने अलग-अलग लोगों से ठगी की थी. शातिर ठग ने लोगों को झांसे में लेकर वारदात को अंजाम देता था. आरोपी ने अपने खाते में 80 लाख रूपये जमा कराए थे, लेकिन पुलिस ने शिकायत के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

आरोपी ने की लाखों की ठगी

पुलिस ने बताया कि प्रार्थिया राजहरा निवासी उत्तरा सार्वा ने शिकायत दर्ज कराई थी. पीड़िता के मुताबिक हेमिन रजक , तबस्सुम कुरैशी, महेश्वरी सिन्हा, दिप्तीलता रामटेके, चन्द्रिका निर्मलकर, मालती सावलकर, सरिता मेश्राम से बातचीत की गई. अशोक सुपरवाइजर पांडेय उर्फ महेन्द्र तिवारी ने महिला एवं बाल विकास विभाग के पद पर नियुक्ति कराने सभी पीड़िताओं से कुल 22,30,000 रूपये विभिन्न खातों में जमा कराकर नौकरी नहीं लगाए जाने पर शिकायत दर्ज कराई गई थी.

खातेधारक की पतासाजी करने पर खाता क्रमांक 20083095168 मोहन नेगी निवासी वार्ड क्र. 5 नारायणपुर जिल नारायणपुर का होना पाया गया. आरोपी को थाना तलब कर पूछताछ किया गया. खाता धारक मोहन नेगी 14,44,300 रूपये जमा कराने की बात स्वीकार की. उसके खाते का बैंक स्टेटमेंट के अवलोकन पर उसके खाते में कुल 80,00,000 रूपये विभिन्न खातों से और विभिन्न तिथियों में जमा होना पाया गया है.

साथ ही जमा रकम को आरोपी द्वारा तत्काल अन्य खातों मे ट्रांसफर कर देना भी पाया गया है. विवेचना के दौरान आरोपी ने उक्त रकम के संबंध में कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किया जा सका है. इस कारण आरोपी मोहन नेगी द्वारा अपने अन्य साथी और मुख्य आरोपी के साथ संपूर्ण घटना को अंजाम देना सिद्ध पाए जाने पर आरोपी को गिरफ्तार किया गया. प्रकरण के मुख्य आरोपी महेन्द्र तिवारी उर्फ अशोक पांडेय को गिरफ्तार किया गया है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।