छत्तीसगढ़ में धान की बर्बादी: 2019 से 2021 तक 3 लाख टन धान का शॉर्टेज, समितियों को करोड़ों का नुकसान, देखिए जिलेवार आंकड़े

रायपुर। छत्तीसगढ़ में धान खरीदी को लेकर हर जिले हर ब्लॉक में धान संग्रहण केंद्र बनाए गए हैं. जहां धान को एकत्रित कर रखा गया है, लेकिन उठाव की रफ्तार धीमी और बारिश की वजह से लाखों टन धान खराब हो गया है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सख्ती के बाद भी स्थिति यही रही. कई धान खरीदी केंद्रों में धान की बर्बादी देखने को मिल रही है. कहीं धान भीगने की वजह से खराब हो रहे हैं, तो कहीं सूखत की वजह से धान में शॉर्टेज देखने को मिला है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में 3 लाख टन धान का शॉर्जेट हुआ है, जिससे समितियों को करोड़ों रूपये का चपत लगा है.

छत्तीसगढ़ में 3 लाख टन धान का शॉर्टेज

छत्तीसगढ़ खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की वेबसाइट के मुताबिक संग्रहण केंद्रों में 3 लाख टन धान खराब हुआ है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अभी भी प्रदेश के संग्रहण केंद्रों में लाखों टन धान पड़ा हुआ है. बारिश के कारण धान भीग रहे हैं और अंकुरित होने लगे हैं. इसका सीधा असर समितियों पर पड़ा है. बावजूद इसके अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है.

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की वेबसाइट के मुताबिक 3 लाख टन धान सड़ गया है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 2019 से 2020 तक 2 लाख टन धान खराब हुआ है. वहीं 2020 और 2021 की बात करें, तो इसमें 1 लाख टन धान खराब हुआ है, जिसकी गवाही सरकारी आंकड़े दे रहे हैं. इससे समितियों को तगड़ा झटका लगा है. फिर भी सरकार कुछ ठोस कदम उठाती नहीं दिख रही है.

2019-2020 में धान शॉर्टेज और खराब

  • बिलासपुर- 313313.99
  • बेमेतरा-278331.02 
  • रायपुर- 275760.24
  • बलौदाबाजार- 243494.83
  • जांजगीर चाम्पा- 169464.99
  • महासमुंद- 146951.29
  • सुरजपूर- 177331.27
  • दुर्ग- 93416.77
  • राजनांदगांव- 90004.17
  • रायगढ़- 84725.73
  • बालोद- 74057.68
  • गरियाबंद- 54735.52
  • मुंगेली- 52354.83
  • बस्तर- 2773.66
  • कवर्धा- 26091.43
  • कांकेर- 24851.49
  • कोंडागांव- 6170.61
  • बलरामपुर- 5349.70
  • सुकमा- 2276.36
  • धमतरी- 2236.60
  • कोरबा- 0
  • कोरिया- 0
  • जशपुर- 0
  • दन्तेवाड़ा- 0
  • सरगुजा- 0

बता दें कि शॉर्टेज और खराबी मिलाकर कुल 2,088,642.18 धान की खराबी दर्ज की गई है. इससे करोड़ों का नुकसान हुआ है.

2020-2021 में धान शॉर्टेज और खराब-

देखिए लिस्ट-

 

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।