Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर. छत्तीसगढ़ में अभी कोविड वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक है. केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देश पर प्रदेश में 12 वर्ष से अधिक लोगों को टीके की पहली और दूसरी खुराक शासकीय कोविड टीकाकरण केंद्रों में निःशुल्क दी जा रही है. स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं और 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को इन केंद्रों में प्रिकॉशन डोज भी लगाई जा रही है.

छत्तीसगढ़ के पास अभी (26 मई की स्थिति में) कुल 58 लाख 95 हजार 120 टीकों का स्टॉक है. इनमें कोविशील्ड के 31 लाख 64 हजार 620, कोवैक्सीन के 19 लाख 56 हजार 620 और 12 वर्ष से 14 वर्ष के बच्चों को लगाए जा रहे हैं. कॉर्बेवेक्स के सात लाख 73 हजार 880 टीके शामिल हैं.

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. वी.आर. भगत ने बताया कि, कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश में अब तक (26 मई तक) कुल चार करोड़ सात लाख चार हजार 111 टीके लगाए जा चुके हैं. इनमें से दो करोड़ 18 लाख 58 हजार 017 पहली डोज के रूप में, एक करोड़ 83 लाख 14 हजार 536 दूसरी डोज के रूप में और पांच लाख 31 हजार 558 टीके प्रिकॉशन डोज के तौर पर लगाए गए हैं. उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी पर्याप्त मात्रा में कोविड वैक्सीन उपलब्ध है.

डॉ. भगत ने बताया कि वर्तमान में बालोद जिले में तीनों तरह के टीकों को मिलाकर कुल एक लाख 43 हजार 200, बलौदाबाज़ार-भाटापारा में कुल एक लाख 28 हजार 200, बलरामपुर-रामानुजगंज में एक लाख एक हजार 780, बस्तर में एक लाख 13 हजार 460, बेमेतरा में दो लाख 14 हजार 40, बीजापुर में 45 हजार 370, बिलासपुर में एक लाख 36 हजार 890, दंतेवाडा में 44 हजार 840, धमतरी में 83 हजार 790, दुर्ग में दो लाख 26 हजार 40, गरियाबंद में एक लाख छह हजार 600, गोरेला-पेंड्रा-मरवाही में 41 हजार 250, जांजगीर-चांपा में दो लाख 72 हजार 140 और जशपुर में एक लाख नौ हजार 290 टीकों का स्टॉक है.

निःशुल्क कोविड टीकाकरण के लिए कांकेर में एक लाख 30 हजार 950, कबीरधाम में दो लाख 19 हजार 560, कोंडागांव में एक लाख 64 हजार 350, कोरबा में एक लाख 98 हजार 290, कोरिया में 63 हजार 580, महासमुंद में एक लाख 17 हजार 530, मुंगेली में दो लाख 86 हजार 910, नारायणपुर में 16 हजार 510, रायगढ़ में दो लाख 25 हजार 430, रायपुर में दो लाख 50 हजार 440, राजनांदगांव में तीन लाख 24 हजार 540, सुकमा में 15 हजार 630, सूरजपुर में एक लाख 27 हजार 290 तथा सरगुजा में दो लाख चार हजार 600 टीके उपलब्ध हैं.