सड़क से सदन तक सियासी उबाल: BJP किसान मोर्चा ने खाद की किल्लत और बिजली की अघोषित कटौती को लेकर खोला मोर्चा, दलालों को फायदा पहुंचाने का लगाया आरोप

शिवम मिश्रा, रायपुर। छत्तीसगढ़ में आज से विधानसभा मानसून सत्र की शुरुआत हुई है. वहीं सत्र के शुरुआत के साथ-साथ राजधानी में प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है. किसानों के मुद्दों को लेकर BJP किसान मोर्चा ने सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान बीजेपी किसान मोर्चा ने कहा कि राज्य सरकार सहकारी समिति का कोटा कम कर निजी व्यापारी और दलालों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है. साथ ही वर्मी कम्पोस्ट खाद में मिट्टी मिलाकर किसानों को बेचने का आरोप लगाया.

इस दौरान BJP किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष गजेंद्र साहू ने कहा कि सहकारिता समिति में खाद की कटौती कर कांग्रेस पोषित व्यापारी और दलालों को बेचा जा रहा है. राज्य सरकार किसानों को वर्मी कम्पोस्ट के नाम पर गोबर में मिट्टी मिलाकर दबावपूर्वक 10 रुपए किलों में खरीदवा रही है. एक ओर सरकार खुद को उनकी हितैषी बताती है, लेकिन दूसरी ओर सरकार किसानों के साथ षड्यंत्र कर रही है. भारतीय जनता पार्टी किसानों के साथ ऐसा व्यवहार नही सहेगी. अगर आने वाले दिनों में सरकार रवैया किसानों के प्रति नही सुधरा तो उग्र आंदोलन किया जाएगा.

BJP किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष गज्जू साहू ने कहा कि पूरे प्रदेश में अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में आज हम किसानों की आवाज बनकर यहां पर धरने पर बैठे हैं. पिछले 2 साल में भूपेश बघेल हमेशा कहते रहें छत्तीसगढ़ में जो सरकार है और किसानों की सरकार है यदि किसानों की सरकार है तो किसानों का धरना देना क्यों पड़ रहा है.

किसान आज खाद, बिजली और राशन के लिए परेशान क्यों है. आज सरकार के पास में इसका जवाब नहीं है. किसानों के हित की बात होती है. कुछ मांग होती है तो इसलिए केंद्र सरकार को पत्र लिख देते हैं. इसके जिम्मेदार मोदी हैं. हमने पूरी जांच किया है. हमने पूरे सरकार से श्वेत पत्र मांगा है कि आपको कितना डीएपी मिला कितना यूरिया मिला कितना खाद मिला. आमने-सामने बैठकर बात कर लेते हैं कि केंद्र की गलती है. यह आपकी गलती है. आज शासकीय दुकानों पर खाद नहीं पहुंच रहा है, लेकिन निजी व्यापारियों के पास पर्याप्त मात्रा में खाद पहुंच रहा है. इसका कहीं ना कहीं सरकार का पूरा संरक्षण प्राप्त है.

इस सरकार को मालूम है कि 2023 में यह वापस नहीं आएगी. इसलिए सर्वत्र भ्रष्टाचार का मामला है, लेकिन यह छत्तीसगढ़ है. यह किसानों का छत्तीसगढ़ है. उनको यह महसूस होता है कि 15 साल में रमन सिंह के कभी दिक्कत नहीं होती थी. वह दिक्कत आज हो रही है. आज किसानों के तमाम मांगों को लेकर 1 दिवसीय धरना दे रहे हैं. उम्मीद करते हैं कि जिन किसानों ने उनको वोट दिया था, उनमें थोड़ी भी नैतिकता है तो इनकी मांगों को पूरा करे और किसानों को राहत दे.

प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार सजग हो जाए किसानों के साथ षड्यंत्र करना बंद करे. भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई लड़ने में पीछे नहीं हटेंगे. आज के धरना में पूर्व विधायक नंदे साहू जिला के महामंत्री ओंकार बस रमेश ठाकुर बजरंग खंडेलवाल सत्यम दुआ गोपी साहू अनुराग अग्रवाल योगी अग्रवाल उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: Tokyo Olympics : सानिया-अंकिता पहले दौर में बाहर, निशानेबाजी में भी निराशा…

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

इसे भी पढ़े- अपने प्रदर्शन को लेकर Manish Pandey जमकर हो रहे ट्रोल, सोशल मीडिया पर दिया जा रहा Farewell

 

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।