कलेक्टर-एसपी सुनिश्चित करें शादी और दशगात्र में 10 से अधिक लोग न हो शामिल- मुख्यमंत्री भूपेश

संक्रमित व्यक्ति के पूरे परिवार को दें कोरोना की दवा.

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना के रोकथाम को लेकर शादी-ब्याह और दशगात्र के कार्यक्रम में 10-10 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति दी गई है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सभी कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक यह सुनिश्चित करें कि शादी-दशगात्र में निर्धारित संख्या से अधिक लोग शामिल न हो. उन्होंने इसके लिए सभी जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को अपने-अपने जिले में होने वाले इन कार्यक्रमों पर सख्त निगरानी रखने के निर्देश दिए है.

Close Button

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि सभी कार्यक्रमों में कोविड अनुकूल व्यवहार का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि इसके पालन के लिए वे अपने क्षेत्र के समाज प्रमुखों की बैठक लेकर आवश्यक समझाइश दें. इन कार्यक्रमों में निर्धारित संख्या से अधिक लोग शामिल न हों. उन्होंने इसके तहत सरपंच, पटवारी, शिक्षक, रोजगार सहायक और कोटवार स्थानीय कर्मचारियों के माध्यम से गांव में कड़ी निगरानी सुनिश्चित करने के लिए कहा है.

इसे भी पढ़ें- निर्णय हो तो ऐसा: मीडियाकर्मियों को दफ्तर में ही लगेगा कोरोना टीका, दिल्ली सरकार ने लिया फैसला

मुख्यमंत्री बघेल ने अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल बैठक में विधानसभा अध्यक्ष और मंत्रीगणों सहित ज्यादा संक्रमित वाले 11 जिलों के अधिकारियों के साथ चर्चा की. कोरोना संक्रमण की स्थिति के बारे में विस्तार से समीक्षा की. मुख्यमंत्री बघेल ने इस दौरान चर्चा करते हुए राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों और अंतर्राज्यीय सीमाओं, खदान और फैक्ट्रियों में बाहर से आने वाले लोगों की जांच के लिए सख्त निगरानी रखने के निर्देश दिए. साथ ही वहां कोरोना से बचाव की गाइडलाइन का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के संबंध में निर्देशित किया.

इसे भी पढ़ें- निजी अस्पताल कोरोना मरीजों से निर्धारित दर से ज्यादा पैसे न वसूलें, गंभीर मरीजों को तत्काल करें भर्ती- सीएम भूपेश 

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण महत्वपूर्ण है. इसे ध्यान में रखते हुए उन्होंने सभी कलेक्टरों को अपने-अपने जिले में टीकाकरण के कार्य को विशेष गति के साथ चलाए जाने के निर्देश दिए. इसके लिए लोगों को अधिक से अधिक प्रेरित करने के लिए भी कहा है. मुख्यमंत्री बघेल ने राज्य में वर्तमान में लॉकडाउन के दौरान लोगों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए पीडीएस के तहत माह मई और जून के राशन को शीघ्रता से निःशुल्क वितरण करने के लिए भी निर्देशित किया. उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर राज्य के सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी सेनेटाइजर और मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे. इसका वितरण महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- स्टूडेंट्स ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ: MBBS छात्र कोरोना वार्ड में ड्यूटी करने को तैयार, लेकिन रखी ये शर्तें

विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कार्य के लिए विशेष जोर दिया. इसी तरह स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने टेस्टिंग और ट्रेसिंग को बढ़ाने को कहा. गृह मंत्री साहू ने शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने को कहा. कृषि मंत्री चौबे और वन मंत्री अकबर ने कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन करने पर जोर दिया. बैठक में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री भेंड़िया और खाद्य मंत्री भगत ने गाइडलाइन के पालन सहित ब्लॉक स्तर पर अस्पतालों में आवश्यक संसाधनों में बढ़ोत्तरी के लिए कहा. इस दौरान उद्योग मंत्री लखमा, उच्च शिक्षा मंत्री पटेल और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार ने भी आवश्यक सुझाव दिए.

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।