Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता और पूर्व विधायक रमेश वर्ल्यानी ने टूलकिट मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि रमन सिंह टूलकिट मामले में बुरी तरह फंस गए हैं. अब वे नाखून कटवाकर शहीद होने की कोशिश कर रहे हैं. पार्टी में हाशिए पर डाले जा चुके रमन सिंह किसी तरह से प्रासंगिक दिखने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वे अब सफल नहीं होने वाले हैं. BJP अपनी साख बचाने के लिए गिरफ्तारी की नौटंकीबाजी कर रही है.

टूलकिट पर सियासी घमासान

उन्होंने कहा है कि फर्जी टूलकिट प्रकरण में आपराधिक षडयंत्र के मामले में फंस चुके रमन सिंह सहित अन्य भाजपा नेता, अपने अपराधों पर पर्दा डालने और जनता को गुमराह करने के लिए कथित गिरफ्तारी की हास्यास्पद नौटंकी कर रहे हैं. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के राज में कानून का शासन चलता है, जहां पुलिस थाने में FIR दर्ज होने पर प्रकरण की पूरी विवेचना के बाद ही कार्रवाई होती है, लेकिन भाजपा नेताग विवेचना में सहयोग करने के बजाए अपने आपराधिक कृत्य पर पर्दा डालने की कोशिश और राजनीति कर रहे हैं.

मोदी सरकार पर कांग्रेस ने लगाए आरोप

कांग्रेस प्रवक्ता वर्ल्यानी ने कहा कि कोरोना काल की दूसरी लहर में मोदी सरकार के आपदा कुप्रबंधन के चलते ऑक्सीजन, दवाइयों और अस्पतालों में बेड की कमी के कारण बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई. कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन की अनिवार्यता की जानकारी होने के बावजूद मोदी सरकार ने वेक्सीन की कोई केंद्रीकृत नीति नहीं बनाई.

45 प्लस की वैक्सीन आपूर्ति ही केंद्र सरकार पूरी तरह से नहीं कर पा रही थी और बिना वेक्सीन की उपलब्धता के 18 प्लस वैक्सीन की घोषणा कर दी. जब वैक्सीन की कमी को लेकर देशव्यापी असंतोष फूटा, तो केंद्र ने वेक्सीन से पल्ला झाड़ते हुए, 18+ की वैक्सीन राज्यों के पाले में डाल दी.  आपदा प्रबंधन में सारे अधिकार केंद्र के पास होते हैं, लेकिन दुनिया के देशों में भारत ही एक ऐसा देश है, जहॉं वैक्सीन की तीन तरह की कीमतें और वैक्सीन की उपलब्धता की कोई सुनिश्चित नीति नहीं है.

देश और दुनिया में फजीहत

इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की पूरे देश और दुनिया में फजीहत हो रही है, लेकिन इससे सबक लेकर इस भयावह महामारी से पीड़ित लोगों की राहत के लिए मेडिकल किट, राशन किट और कोरोना रिलीफ किट बनाने के बजाय, भाजपा नेता मोदी सरकार के गुनाहों पर पर्दा डालने के लिए फर्जी टूलकिट के माध्यम से जनता को गुमराह करने में लगे हुए हैं.

साख बचाने के लिए गिरफ्तारी की नौटंकी

वर्ल्यानी ने कहा कि फर्जी टूलकिट के खेल में भाजपा के नेता स्वयं बुरी तरह फंस गए. सोशल मीडिया कंपनी ने भी इनके पोस्ट को ”मेनीपुलेटेड“ घोषित कर दिया है, लेकिन इसके बावजूद भाजपा नेता बड़ी बेशर्मी से अपनी साख बचाने के लिए गिरफ्तारी की नौटंकी बाजी कर रहे हैं, लेकिन जनता इस फर्जीवाड़े में भाजपा की संलिप्तता के सच को जान चुकी है.

कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने रमन पर साधा निशाना

इस दौरान कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने रमन सिंह पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि टूलकिट में फंसे रमन सिंह कानून का सामना करने के बजाए एक और कानून का उल्लंघन कर रहे हैं. कोरोना महामारी में प्रतिबन्ध के बावजूद भीड़ थाने में पहुंच रही है.

उन्होंने कहा कि टूलकिट मामले में बयान दर्ज करने आज सिविल लाइन थाने ने पूर्व मूख्यमंत्री रमन सिंह को तलब किया था, लेकिन सैकड़ो कार्यकर्ताओ की भीड़ लेकर पहंच गई. मामले में कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने कहा कि 15 साल सरकार चलाने वाले पूर्व मूखमंत्री को कोरोना काल के प्रोटाकॉल का ध्यान रखना चाहिए. अगर वे गलत नहीं हैं तो उन्हें कानून से भी भय नहीं खाना चाहिए.

पूर्व सीएम को भय है इसलिए वे भीड़ लेकर पहुंच गए हैं. राष्ट्रीय स्तर के नेता हैं, एनएसजी जैसे महत्वपूर्ण संस्था की सुरक्षा भी मिली है, ऐसे में रमन सिंह की भी जवाबदारी बनती है कि वे कानून का सम्मान करें. विनोद तिवारी ने भय के इस भीड़ के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है.

तिवारी ने कहा कि भारी मशक्कत के बाद मुखिया भूपेश के अथक प्रयासों से कोरोना पर काबू पाने की ओर राजधानी आगे बढ़ रहा है. ऐसे में यह भीड़ कोरोना काल मे कितना घातक हो सकता है इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है. तिवारी ने कहा कि कोरोना फैलती है,मुश्किलें खड़ी होती है तो यही लोग है जो प्रोटाकल कि दुहाई देते फिरते हैं.

 

इसे भी पढ़ें: मॉब लिंचिंग : मारपीट का वीडियो हुआ वायरल, 4 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

दुनियाभर की कोरोना अपडेट देखने के लिए करें क्लिक