बड़ी खबर: रेवेन्यू इंटेलिजेंस की टीम ने इस ज्वेलरी शॉप में की छापेमार कार्रवाई, 2200 किलो चांदी और 85 किलो सोना जब्त!

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के नंदई स्थित जसराज शांतिलाल बैद फर्म के मोहनी ज्वेलर्स में रायपुर की रेवेन्यू इंटेलिजेंस टीम दो दिनों से जमी हुई है. पता चला है कि सोना चांदी से जुड़ी तस्करी को लेकर बड़ी कार्रवाई की गई है. जो लगातार दो दिनों से चल रही है.

मिली जानकारी के अनुसार रेवेन्यू इंटेलिजेंस की टीम कल 1 मई को दोपहर 12 बजे के आसपास जसराज शांतिलाल बैद के नंदई स्थित मकान में छापेमार कार्रवाई की, जो आज देर रात तक चल रही है. रेवेन्यू इंटेलिजेंस के अफसर 3 इनोवा में सवार होकर मोहनी ज्वेलर्स के मालिक के नंदई स्थित निवास में पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू कर दी. इस दौरान किसी को न भीतर जाने दिया जा रहा है और न ही किसी को बाहर जाने की अनुमति है. रेवन्यू इंटलीजेंस की टीम द्वारा लगातार दो दिनों से चल रही कार्रवाई को देखते हुए बड़े खुलासे होने की संभावना जताई जा रही है.

इसी भी पढ़ें- असम में BJP की जीत: रमन सिंह ने भूपेश बघेल पर कसा तंज, बोले- ‘जहां-जहां किया चुनाव प्रचार, वहां हारी कांग्रेस’ 

सूत्र बता रहे हैं कि रेवेन्यू इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ रायपुर से उन 4 आरोपियों को भी लाया गया है. जिनसे पूछताछ के आधार पर यह छापमार कार्रवाई की गई है. समाचार लिखे जाने तक जांच जारी है. इस संबंध में जांच दल में शामिल अधिकारी मीडिया से दूरियां बनाए हुए है.

2200 किलो चांदी, 85 किलो सोना सहित 30 लाख नगद

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त ज्वेलरी व्यापारी के पास से लगभग 22 सौ किलो चांदी और 85 किलो सोना होना बताया गया है. इसके साथ ही साथ 30 लाख रूपए नगद भी मिलने की जानकारी सूत्र बता रहे हैं. लगातार दो दिनों से चल रही कार्रवाई से कई और बड़े खुलासे होने की बात भी सामने आ रही है. हालांकि अभी किसी प्रकार की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है कि कितना सामान जब्त किया गया है.

इसी भी पढ़ें- 2 दिन पहले रिटायर्ड CMHO को सरकार ने दिया एक्सटेंशन, संभाले रहेंगे कमान 

रेवेन्यू इंटेलिजेंस के एक दर्जन से अधिकारी कर रहे जांच

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोहनी ज्वेलर्स की दुकान को सील कर दिया गया है. इसके साथ ही साथ उनके एक निवास को भी सील किया गया है. बताया जा रहा है कि रेवेन्यू इंटेलिजेंस टीम में लगभग एक दर्जन से अधिक अधिकारी जांच कर रहे है. साथ ही साथ स्थानीय पुलिस की भी मदद ली गई है.

read more- Aggressiveness towards Hacking: Indian Organizations under Chinese Cyber Attack

Related Articles

Back to top button