छत्तीसगढ़: क्वारंटाइन सेंटर में ड्यूटी कर रहे शिक्षक की हार्ट अटैक से मौत, इस जिले के थे निवासी

सुनील पासवान,बलरामपुर। जिला मुख्यालय से महज कुछ ही दूरी पर स्थित सेमली लेन्जुवा पारा आंगनबाड़ी केंद्र में कोरोना क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है. जहां ड्यूटी कर रहे शिक्षक की आज सुबह हार्ट अटैक आने से मौत हो गई है. छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने मृतक शिक्षक के परिवार को 50 लाख की बीमा राशि देने और परिवार के आश्रित को अनुकम्पा नियुक्ति दिए जाने की मांग की है.

Close Button

जानकारी के मुताबिक मृतक शिक्षक का नाम सियाराम भगत है, जो कि अंबिकापुर जिले के रहने वाले थे. रोज की तरह आज भी उसकी ड्यूटी सेमली लेन्जुवा पारा क्वारंटाइन सेंटर में लगाई गई थी. ड्यूटी के दौरान शिक्षक सियाराम अपने बाइक पर बैठकर मोबाइल चला रहे थे, उसी हार्ट अटैक आ गया और नीचे गिर पड़े.

शिक्षक को गिरते देख आस-पास मौजूद लोगों ने तत्काल गांव वाले को सूचना दी. जब तक लोग पहुंचते या उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया जाता, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी. बलरामपुर जिला हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने उनकी मौत की पुष्टि की है. घटना की सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर पहुंचकर बलरामपुर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच की जा रही है.

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने पर्याप्त सुरक्षा संसाधनों और प्रशिक्षण के बिना शिक्षकों की कोरोना ड्यूटी न लगाए जाने की बात कही है. शिक्षकों का 50 लाख का बीमा कराने के साथ मौत होने पर 50 लाख के बीमा राशि के साथ अन्य घोषित सुविधाएं प्रदान की जाने की मांग की है. शासन द्वारा 50 लाख के बीमा कवर योजना में शामिल नहीं किया जाना संवेदनहीनता है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।