विधानसभा : आज भी हंगामेदार सत्र का आसार, धान उठाव के साथ वन क्षेत्र में कोयला खनन की अनुमति बनेंगे मुद्दा

रायपुर। विधानसभा मानसून सत्र का चौथा दिन भी काफी हंगामेदार होगा. एक ओर जहां मुख्यमंत्री बघेल बजट की तृतीय एवं अंतिम तिमाही की आय तथा व्यय की प्रवृत्तियों की समीक्षा पटल पर रखेंगे. वहीं दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक धान संग्रहण केंद्रों में धान का उठाव नहीं होने का मुद्दा उठाएंगे. इसके अलावा मुद्दों पर विपक्ष दल के विधायक सदन का ध्यान आकर्षित करेंगे.

सोमवार से शुरू हुआ विधानसभा का मानसून सत्र बीते तीन दिनों में काफी हंगामेदार रहा है. संख्या बल में कम होने के बाद भी विपक्ष ने अलग-अलग मुद्दों पर सरकार को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा है. इसके अलावा टीएस सिंहदेव और बृहस्पत सिंह के प्रकरण ने सत्र को एक नया ही आयाम दिया है. इस कड़ी में गुरुवार का दिन भी हंगामाखेज रहने वाला है.

डॉ रेणु जोगी पेंशनरों के प्रकरणों के निराकरण में होने वाले विलंब की ओर ध्यानाकर्षण करेंगी. विधायक बृजमोहन अग्रवाल मेकाहारा में गरीब मरीजों की फ्री एंजियोप्लास्टी बंद होने की ओर ध्यान आकर्षण करेंगे. विधायक अजय चंद्राकर छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना का कार्य धीमी गति से होने का मुद्दा उठाएंगे. इसके अलावा विधायक धर्मजीत सिंह प्रदेश की हसदेव एवं मांड नदी के जल ग्रहण क्षेत्र के वनों में कोयला खनन की अनुमति दिए जाने से उत्पन्न स्थिति का मामला उठाएंगे.

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।