छत्तीसगढ़: कम बारिश ने बढ़ाई चिंता, बिजली की डिमांड रिकॉर्ड 4905 मेगावाट तक पहुंच गई

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बीते कुछ दिनों से बहुत कम बारिश हो रही है. जिस कारण कृषि पंपों की निर्भरता बिजली के प्रति लगातार बढ़ रही है. कृषि पंपों के बिजली का भार खरीफ़ की फसल के वक्त उस समय और अधिक बढ़ जाती है, जब वर्षा में ठहराव की अवधि बढ़ती जाती है.

दरअसल बीते दिनों कम बारिश की स्थिति से कृषि की निर्भरता बिजली के उपयोग में बढ़ने के कारण राज्य की बिजली की कुल डिमांड 4905 मेगावाट तक पहुंच गई, जो बीते वर्षों में इस सीजन का अधिकतम रिकॉर्ड है.

छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर कंपनी के चेयरमेन अंकित आनंद ने बताया कि पावर कंपनी इस परिस्थिति पर लगातार नज़र रख रही है. ताकि उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति बराबर बनी रहे. वर्तमान में राज्य के सभी पावर प्लांट उत्पादन कर रहे हैं. जिससे स्थिति नियंत्रण में है.

बता दें कि बारिश नहीं होने के चलते किसानों की चिंता बढ़ गई है. किसानों के खेत में फसल सूख रही है. यही वजह है कि फसल को पानी देने के लिए किसान बिजली से बोर चला रहे हैं. जिस कारण फसल को समय पर पानी मिल सके.

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।