Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर. बायोफ्यूल के क्षेत्र में किए जा रहे उल्लेखनीय कार्य के लिए छत्तीसगढ़ को इंडियन फेडरेशन ऑफ ग्रीन एनर्जी द्वारा ‘इंडिया ग्रीन एनर्जी अवार्ड‘ से नवाजा गया है. यह अवार्ड बायोफ्यूल के आऊटस्टैंडिंग रिन्यूएबल एनर्जी जनरेशन प्रोजेक्ट केटेगरी में छत्तीसगढ़ को प्रदान किया गया है.

नई दिल्ली में बुधवार को आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और केन्द्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री भगवंत खूबा ने छत्तीसगढ़ बायोफ्यूल डेव्हलपमेंट अथार्टी (SBDA) रायपुर के मुख्यकार्यपालन अधिकारी सुमीत सरकार को इंडिया ग्रीन एनर्जी अवार्ड प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह प्रदान किया. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पुरस्कार प्राप्त करने पर छत्तीसगढ़ बायोफ्यूल डेव्हलपमेंट अथार्टी को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं.

बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार ऊर्जा के परंपरागत स्रोतों पर निर्भरता कम करने के लिए अपरंपरागत ऊर्जा के नवीन विकल्पों को प्रोत्साहित कर रही हैं. इस दिशा में छत्तीसगढ़ बायोफ्यूल डेव्हलपमेंट अथार्टी द्वारा राज्य में बायोफ्यूल के क्षेत्र में अधिशेष अनाज से एथेनॉल उत्पादन संयंत्र की स्थापना, बायो-जेट एवीएशन फ्यूल के निर्माण में सहयोग और जैव ईंधन के क्षेत्र में अनुसंधान कार्य जैसे उल्लेखनीय काम किए जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – पुलिस स्मृति दिवस परेड : शहीद जवानों को दी गई श्रद्धांजलि, याद में नम हुई परिजनों की आंखें… 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गडकरी ने कृषि उत्पाद से बायोफ्यूल उत्पादन के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की सराहना की और भविष्य में बायोफ्यूल का महत्व बताते हुए कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए अन्यदाता को ऊर्जा दाता बनना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें – ग्लोइंग और खूबसूरत स्किन के लिए अपनाएं ये Body Wash, इन चिजों से घर पर ऐसे बना सकते हैं … 

इंडियन फेडरेशन आफ ग्रीन एनर्जी, 2020, भारत सरकार के नवीन और नवीकणीय ऊर्जा मंत्रालय, सरदार शरण सिंह नेशनल इन्स्टीयूट ऑफ बायो-एनर्जी और एसोसियेशन ऑफ स्टेट रोड़ ट्रान्सपोर्ट अन्डरटेकिंग के सपोर्टिग पार्टनरशिप में और केयर रेटिंग के नॉलेज पार्टनरशिप से अपारंपरिक ऊर्जा के विभिन्न क्षेत्र जैसे कि सौर ऊर्जा, बायोमास, बायोफ्यूल आदि में अवार्ड के लिए नॉमिनेशन आमंत्रित किया गया था. समग्र भारत से प्राप्त नॉमिनेशन में से भारत सरकार के वैज्ञानिक संगठन CSIR के साइंटिस्ट और शिक्षण प्रतिष्ठान आईआईटी के प्रतिनिधि वाले विशिष्ट ज्यूरी ने प्रत्येक कैटेगरी में अवार्ड हेतु चयन किया है.