खाकी पर दाग लगाने वाले चार आरक्षक निलंबित, थानेदार को शोकॉज नोटिस, DGP अवस्थी के सख्त निर्देश के बाद कार्रवाई…

चंद्रकांत देवांगन,दुर्ग/ शैलेंद्र पाठक, बिलासपुर– जबरन वसूली कर खाकी पर दाग लगाने वाले चार आरक्षकों को एसपी ने निलंबित कर दिया है. दुर्ग जिले में शराब कोचिए से अवैध वसूली करने वाले आरक्षक धुव नारायण चन्द्राकर एवं आरक्षक अजय सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. वहीं बिलासपुर में ट्रक ट्राइवर से जबरन वसूली करने के आरोप में आरक्षक सुनील कुमार समेत एक अन्य आरक्षक को निलंबित कर दिया है. साथ ही थानेदार को शोकॉज नोटिस थमाया गया है.

दरअसल, शनिवार को  सिविल लाइन थाना के आरक्षक ध्रुवनारायण चंद्राकर और आरक्षक अजय सिंह को अवैध शराब की सूचना मिली. सूचना के बाद दोनों आरक्षक ने कृष्णा ग्रांड सिटी में रूम रीगल 3 में दबिश दी. यहां युवक जगदीश रहता है, इसके अपार्टमेंट के नीचे खड़ी टाटा सफारी में पुलिस को 40 पेटी शराब पकड़ा. गाड़ी का चॉबी निकाल लिया और थाने चलने की बता कही. इसी बीच 40 पेटी शराब को 2 लाख में तय किया गया. जिसके बाद दगदीश ने 1 लाख 65 लाकर आरक्षकों को दे दिया. और बाकी 35 हजार रुपए  5 दिन में व्यवस्था कर देने की बात कही.

कोचिए से सांठगाठ एवं अवैध वसूली कर बिना कार्यवाही के छोड़ने की शिकायत एसपी से की गई. इसके बाद उन्होंने तत्काल प्रभाव से दोनों आरक्षकों को निलंबित कर दिया गया है.

ट्रक ड्राइवर से 5 हजार रुपए की वसूली, दो सिपाही निलंबित

बिलासपुर में रविवार सुबह कोनी थाने के दो आरक्षक ने हरियाणा से बकरी लेकर आ रहे ट्रक ड्राइवर को रोक लिया. फिर उसे थाने ले जाकर पांच हजार रुपए जबरन वसूल लिए. इसके बाद उसे छोड़ दिया गया.

हरियाणा से  बकरी बिलासपुर के व्यापारी इकबाल खान के लिए आया था. कोनी थाने के सिपाही सुनील कुमार सहित अन्य ने सब कुछ दिखाने के बाद भी ट्रक ड्राइवर से पांच हजार वसूल लिए. मामले की शिकायत ट्रक ड्राइवर ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से की.

शिकायत के बाद सिपाहियों से पूछताछ की गई, जिसमें वसूली का आरोप सही पाया गया. पुलिस की छवि खराब करने से नाराज एएसपी ओपी शर्मा ने दोनों सिपाही को सस्पेंड कर दिया है. और मामले की गंभीरता को देखते हुए थानेदार चतुर्वेदी को शोकॉज नोटिस जारी किया है.

इसे भी पढ़े-डीएम अवस्थी का सख्त निर्देश, थानों को आदर्श जनसुविधा केन्द्र के रूप में करें विकसित, भ्रष्टाचार की आई शिकायत तो होगी कार्रवाई

Advertisement
Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।