छत्तीसगढ़ पंचायती राज अधिनियम को चुनौती मामला, हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा…

शैलेंद्र पाठक, बिलासपुर– हाईकोर्ट में मंगलवार को पंचायती राज अधिनियम को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई की गई. मामले की सुनवाई के बाद पूर्ण पीठ ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

महासमुंद की प्रेमलता साहू ने हाईकोर्ट में याचिका लगाकर पंचायती राज अधिनियम को चुनौती दी है. उन्होंने अपनी याचिका में कहा है कि अविश्वास प्रस्ताव पर नायब तहसीलदार निर्वाचन अधिकारी बन दिया जाता है, जो पंचायत राज अधिनियम के विपरीत है.

मामले में सुनवाई के बाद पूर्ण पीठ ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. जस्टिस पी आर रामचंद्र मेनन, जस्टिस पी पी साहू और जस्टिस संजय के अग्रवाल की पूर्ण पीठ ने मामले की सुनवाई की.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।