छत्तीसगढ़: निजी स्कूल में फीस वसूली को लेकर धरने पर बैठे परिजन, विरोध के बाद स्थगित हुई परीक्षा

सुप्रिया पांडे,रायपुर। कोरोना काल के दौरान स्कूल फीस को लेकर बिगड़ी व्यवस्था अभी तक नहीं सुधर पाई है. एक बार फिर राजधानी रायपुर के शांति विहार स्थित स्वामी विवेकानंद सीनियर सेकेण्डरी स्कूल प्रबंधन पर फीस वसूलने का आरोप लगा है. इसके विरोध में परिजन डगनिया स्कूल के बाहर धरने पर बैठ गए है. परिजनों का आरोप ऑनलाइन क्लासेस बंद कर दी गई और ट्यूशन फीस के नाम पर पूरी फीस वसूली जा रही है. परिजनों के विरोध के बाद कल से होने वाली स्कूल की परीक्षा स्थगित कर दी गई है.

परिजनों का कहना है कि कोरोना काल में आर्थिक स्थिति खराब हो गई है. इसके बाद स्कूल प्रबंधन पूरी फीस की मांग कर रहे हैं. जबकि स्कूल प्रबंधन के द्वारा फीस स्ट्रक्चर भी नहीं बताया जाता है. बुधवार से सभी कक्षा के बच्चों का इंटरनल एक्जाम है. ऐसे समय में ऑनलाइन क्लास बंद कर दी गई है. इस मामले को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी से मुलाकात की जाएगी.

पैरेंट्स एसोसिएशन के सदस्य गौरीशंकर दुबे ने बताया कि वो जून महीने से आवेदन देकर बोलते आ रहे है कि कोरोना काल 35 प्रतिशत फीस ही स्कूल प्रबंधन को देंगे. लेकिन स्कूल कहता रहा है कि सरकार और मेनैजमेंट से बात हो रही है. अब स्कूल प्रबंधन एक दो क्लास ही लेकर पूरी फीस की मांग कर रहे है. कहते है कि आपके बच्चे का फीस जमा नहीं हुआ, तो ऑनलाइन क्लास बंद कर देंगे. इस तरह बच्चों को पढ़ाई से वंचित कर रहे हैं. स्कूल में कोई भी आवेदन लेने को तैयार नहीं है. इसके साथ ही स्कूल प्रबंधन के द्वारा ये भी कहा जा रहा है कि जिनके बच्चे का फीस नहीं जमा है, वो बच्चे एग्जाम नहीं दे पाएंगे.

इस मामले में मौके पर पहुंचे अधिकारी सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारी प्रदीप शर्मा ने कहा कि परिजन और स्कूल प्रबंधन की सहमति से मामला सुलझा दिया गया है. स्कूल वाले से फीस को लेकर परिजन कहते रहे कि 35 प्रतिशत ही फीस देंगे. परिजनों को समझाया कि हाईकोर्ट व शासन की गाइडलाइन है कि आपको ट्यूशन फीस देनी होगी. स्कूल प्रबंधन से बीते 10 महीनों का रिकॉर्ड मंगाया गया है. 12 बजे से परिजन हंगामा कर रहे थे जिन्हें समझाने में काफी वक्त लगा.

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।