छत्तीसगढ़ मौसम रेड अलर्ट: अगले 4 घंटे में इन जिलों में होगी जोरदार बारिश, 14 सितंबर को भी 4 संभागों में वर्षा की चेतावनी

अखिलेश जायसवाल,रायपुर। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) में बीते कुछ दिनों से झमाझम बारिश (rain) हो रही है. राजधानी रायपुर समेत कई जिलों में बारिश के चलते जनजीवन भी अस्त व्यस्त हो गया है. मौसम विभाग ने एक बार फिर अलर्ट जारी किया है. अगले 4 घंटे ( 4 hours) में प्रदेश के कोरबा, जांजगीर, बिलासपुर, मुंगेली, पेंड्रा रोड, कबीरधाम, बेमेतरा, राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर, महासमुंद, धमतरी, गरियाबंद और इससे लगे जिलों में भारी वर्षा होने की प्रबल संभावना है. यह चेतावनी शाम 7.20 बजे शुरू हो गया है.

मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ में 13 सितंबर को बिलासपुर संभाग (Bilaspur Division) के अधिकांश जिलों में और उससे लगे सरगुजा संभाग, रायपुर संभाग, दुर्ग संभाग के जिलों में भारी वर्षा होने की प्रबल संभावना जताई गई थी. बिलासपुर संभाग के कुछ जिलों में अति भारी वर्षा भी होने की संभावना थी. मौसम विभाग के अलर्ट के बाद रायपुर समेत कई जिलों में तेज बारिश हो रही है.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के लिए रेड अलर्ट (red alert) जारी किया है. छत्तीसगढ़ के कोरिया, सूरजपुर, सरगुजा, जशपुर, रायगढ़, जांजगीर, कोरबा, बलौदाबाज़ार, मुंगेली, कबीरधाम, बेमेतरा, बिलासपुर, सुकमा, बीजापुर जिले और उससे लगे जिलों में एक दो स्थानों पर गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने और भारी वर्षा होने की संभावना है.

इसके अलावा मौसम विभाग ने 14 सितंबर के लिए भी चेतावनी जारी किया है. छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने और गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है. प्रदेश के बिलासपुर संभाग और उससे लगे सरगुजा, दुर्ग और रायपुर संभाग के जिलों में भारी वर्षा होने की प्रबल संभावना है. प्रदेश में अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है.

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को सुस्पष्ट चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में था. वह आज सोमवार को अत्यधिक प्रबल हो कर गहरा अवदाब के रूप में परिवर्तित हो गया है. जिस कारण अभी तटीय ओडिशा और उसके आसपास स्थित है. यह पश्चिम- उत्तर -पश्चिम दिशा में आगे बढ़ रहा है. इसके अगले 24 घंटे में पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए उत्तर ओडिशा उत्तर छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की ओर अगले 48 घंटे तक आगे बढ़ने की सम्भावना है.

जिस कारण अगले 24 घंटे में कमजोर होकर अवदाब के रूप में परिवर्तित होने की संभावना है. मानसून द्रोणिका नलिया, दक्षिण गुजरात में स्थित निम्न दाब के केंद्र, खंडवा, बालाघाट, रायपुर, संबलपुर, तटीय ओडिशा में स्थित गहरा अवदाब के केंद्र और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है. एक द्रोणिका दक्षिण गुजरात में स्थित निम्न दाब के केंद्र से उत्तर तटीय ओडिशा में स्थित गहरा अवदाब के केंद्र तक दक्षिण मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ होते हुए 1.5 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।