कवर्धा मामले की समीक्षा: उपद्रवियों ने शहर की शांति व्यवस्था और सौहार्द को बिगाड़ा, VIDEO में दिख रहे उपद्रवी तत्वों की पहचान कर करें सख्त कार्रवाई- मुख्यमंत्री बघेल

वीडियो सार्वजनिक हो और आरोप लगाने वालों को दिखाकर पूछा जाए कि इसमें से कौन वीडियो में नहीं है- CM

कवर्धा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में कवर्धा की कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की. इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कवर्धा के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को कवर्धा में 5 अक्टूबर को रैली के दौरान हुई घटना की जांच करने और घटना के दोषियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था और सामाजिक सौहार्द्र को बिगाड़ने की कोशिशों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

CM बघेल ने  शहर में कानून और व्यवस्था की स्थिति की लगातार समीक्षा करने, शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में लगातार पेट्रोलिंग करने, उपद्रवी तत्वों पर निगरानी रखने और समय-समय पर शांति समिति की बैठकें आयोजित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए. उन्होंने निर्देश दिये कि बिना किसी भेदभाव के वीडियो में दिख रहे उपद्रवियों की पहचान करे और उन पर सख़्त कार्रवाई करें.

आईजी विवेकानद सिन्हा को मुख्यमंत्री ने कहा की भाजपा आरोप लगा रही है कि एक वर्ग विशेष के खिलाफ करवाई हो रही है. उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी वीडियो सार्वजनिक हों और आरोप लगाने वालों को दिखाकर पूछा जाए कि इसमें से कौन वीडियो में नहीं है. उन्होंने कहा कि अन्य लोगों के बारे में भी अगर सबूत पेश किए जाएं तो उनके खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाए.

वहीं गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि इस घटना के दौरान कवर्धा में बाहर से आने वाले लोगों को चिन्हित किया जाना चाहिए. उन्होंने शहर में नियमित पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए.

वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि कवर्धा में सभी समुदाय के लोगों के बीच हमेशा से सदभाव और भाईचारा रहा है. कवर्धा में बाहर से आए लोगों द्वारा तोड़-फोड़ की गई. उन्होंने कहा कि कवर्धा के धार्मिक स्थलों सहित प्रमुख स्थानों पर सीसी टीवी लगे हैं. उनके फुटेज देखकर उपद्रव करने वाले लोगों की पहचान की जाए.

कलेक्टर कवर्धा ने बताया कि कवर्धा शहर में स्थिति नियंत्रण में और शांति पूर्ण है. कल गुरूवार को सर्व समाज प्रमुखों, कवर्धा चेम्बर ऑफ कॉमर्स और व्यापारी संगठनों की बैठक आयोजित की गई, जिसमें सभी लोगों ने घटना की निंदा की है.

बता दें कि बैठक में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, रायपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक आनंद छाबड़ा, कवर्धा जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, दुर्ग रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा, कवर्धा के कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा और पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग शामिल हुए.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।