MP में घंटी और थाली से गढ़ेगा भविष्य: PM के बाद अब CM शिवराज का फरमान, सुबह-दोपहर अभिभावक और छात्र बजाएंगे थाली, फिर पकड़ेंगे कॉपी, कलम और किताब, जानिए क्यों ?

अजय शर्मा, भोपाल: 22 मार्च दिन रविवार 2020 को शाम पांच बजे अपने अपने घरों में से ही ताली बजाकर, थाली बजाकर, घंटी बजाकर एक-दूसरे का आभार जताएं और इस वायरस से लड़ने के लिए एकजुटता दिखाएं…ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील थी. अब ये अपील 2022 आते तक फरमान में तब्दील हो गई है. MP में शिवराज सरकार ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें साफ-साफ लिखा है कि सुबह से छात्र और अभिभावक घंटी और थाली बजाएंगे. ये आदेश “हमारा घर हमारा विद्यालय” योजना के तहत जारी किया गया है.

दरअसल, MP शिक्षा केंद्र ने छात्रों को लेकर एक आदेश जारी किया है, जिसमें लिखा है कि  “हमारा घर हमारा विद्यालय” योजना के तहत प्रतिदिन सुबह घंटी और थाली बजाकर 10 बजे से विद्यार्थियों, परिवार के सदस्यों को अपने घर में शुरूआत किया जाए. इसी प्रकार दोपहर 1 बजे बजाकर अवकाश किया जाएगा.

आदेश में लिखा है कि इसमें बच्चे के पास सीखने के स्त्रोत में उपलब्ध रेडियो,  पाठ्यपुस्तक और अभ्यास पुस्तिका के आधार पर लर्निंग पैकेज तैयार किया गया है. सरकार ने  मध्यप्रदेश राज्य शिक्षा केन्द्र के सभी जिला कलेक्टर्स को फ़रमान जारी किया है, जिससे अब एक बार फिर घरों में घंटी और थाली बजाने का सिस्टम लौट आया है. छात्रों के घरों में अब थाली और घंटियां बजाई जाएगी, जिसके बाद कॉपी, कलम और किताब हाथ में आएंगे.

परिवार के सदस्यों की भूमिका

  • शिक्षा का स्थान कोना निर्धारित समय पर बच्चों का घर में लिखने पढ़ने के लिए एक स्थान नियत करेंगे.
  • निर्धारित विषय का कार्य करने के लिए प्रेरित करेंगे.
  • बच्चों को आवश्यक स्टेशनरी सुबह 10:00 से दोपहर 1:00 बजे गतिविधि के अनुसार यथासंभव सामग्री उपलब्ध कराएंगे.
  • पेंसिल, कॉपी, स्केच पेन, कलर पेंसिल और पुराने पेपर आदि उपलब्ध कराएंगे.
  • डिजिटल वीडियो के माध्यम से प्राप्त सामग्री के अध्ययन के लिए सुविधा अनुसार बच्चों को मोबाइल उपलब्ध कराना

देखिए आदेश की कॉपी-

 

इसे भी पढे़ं : सुरक्षाकर्मी की काटी जा रही छुट्टियां, विरोध में परिवार के साथ बैठा धरने पर, जानिए क्या है मामला

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!