Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

अजय शर्मा,भोपाल। राजधानी भोपाल में गुरुवार सुबह लगभग 7.30 शुरू हुई मुख्यमंत्री की कलेक्टर कमिश्नर कॉन्फ्रेंस अब ख़त्म हो गई है. कलेक्टर-कमिश्नर कॉफ्रेंस के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई महत्वपूर्ण निर्देश दिये है. उन्होंने कहा कि थानों की रैंकिंग होनी चाहिए, जो अच्छा कर रहे है उसका श्रेय भी देना चाहिए. भोपाल ने इसे बहुत अच्छे से किया है, बाकि जिले भी इसे अपनाएं. एक ओवरऑल रैंकिंग हमें करना चाहिए. जैसे भारत सरकार राज्यों की रैंकिंग करती है. वैसे ही हमें जिलों की रैंकिंग करनी चाहिए.

सीएम शिवराज ने कहा कि डेवलपमेंट के काम के लिए हर एक जिला चिन्हित करें. जिले की अलग पहचान बने. समय सीमा में पूरी हों. डेवलपमेंट के काम इतिहास रचें, जो रिकॉर्ड समय में बने. कुछ मानवीयता से जुड़े काम भी करें. जैसे रैनबसेरा बनाने का काम है. सभी कलेक्टर्स से कहना चाहता हूं कि आप जो कर रहे हैं, आप इतिहास रच सकते हैं. आप बता सकेंगे कि आपने अपनी सर्विस में यह काम किया. वह उदाहरण बन सकता है.

2 रिश्वतखोर गिरफ्तार: भोपाल में 4 हजार रिश्वत लेते कर्मचारी पकड़ाया, पन्ना में पटवारी 3 हजार घूस लेते गिरफ्तार

25 फरवरी को हम फिर रोजगार मेले का आयोजन करेंगे. स्वरोजगार का हमारा अभियान लगातार जारी रहे. कुछ योजनाओं पर ध्यान जाना जरूरी है. उज्ज्वला योजना, आयुष्मान, पीएम स्वनिधि का टारगेट पूरा करें. पीएम आवास योजना का टारगेट अचीव करें. जनकल्याण की योजनाओं को पूरा करने में अपनी एनर्जी लगाएं. मुझे यह कहते हुए संतोष है कि केंद्र की योजनाओं में हमने अच्छा काम किया. आपने जो काम किया है, वह जनता के बीच जाना चाहिए. हर अच्छे काम का श्रेय राज्य सरकार को, जिला प्रशासन को मिले. इसमें कोई संकोच नहीं करना है. 5 लाख से अधिक लोगों को हमने रोजगार दो महीने में दिया यह बड़ी उपलब्धि है. योजनाओं का क्रियान्वयन ढंग से करना है. पूरी पारदर्शिता के साथ काम करें.

इश्कबाज TI को कौन बचा रहा ? महिला आरक्षक ने टीआई पर लगाया रेप का आरोप, कहा- इंसाफ नहीं मिला तो कर लूंगी सुसाइड

संवेदनशीलता का गुण हममें होना चाहिए. एक दिन मैं रैनबसेरों के निरीक्षण के लिए निकल गया. आप क्यों नहीं निकल सकते. कोई गरीब फुटपाथ पर क्यों सोए, कोई बुजुर्ग भूखा क्यों रहे, यह हमारा काम नहीं है, तो किसका है. अखबार में जो मानवीयता से जुड़ी खबरें आती है, उस पर हम मदद करें. इलाज आदि की व्यवस्था करें, सरकार लोगों की मदद के लिए ही तो है. ऐसे जिले मेरे ध्यान में हैं, जहां गड़बड़ है, मैं वेरीफाई करूंगा, फिर देखूंगा.

मजहब, मुल्क और प्यार: हिंदू युवक ने मोरक्को की मुस्लिम युवती से की शादी, ADM ने दिया विवाह प्रमाण पत्र, पढ़िए लव स्टोरी

सीएम शिवराज ने कहा कि आपके नीचे का अधीनस्थ यदि गड़बड़ कर रहा है, तो आप भी जिम्मेदार हैं. आपको नजर रखनी है कोई गड़बड़ी न करे. यह हम सबको मिलकर करना चाहिए. तब हम बेहतर कर पाएंगे. जिन लोगों को योजनाओं का लाभ नहीं मिला. वह देखें, उन्हें लाभ दें. जनकल्याण, सुशासन और विकास यह मध्यप्रदेश की पहचान बने. आज जितनी चीज़ें हुई हैं, उसका पालन, प्रतिवेदन हो. अगली बार हम फिर बैठेंगे.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">
Share: