whatsapp

T20 World Cup: टी-20 विश्वकप के लिए कोच राहुल द्रविड़ ने बताई टीम इंडिया की रणनीति, बुमराह के जगह इस धाकड़ गेंदबाज को शामिल करने के दिए संकेत…

स्पोर्ट्स डेस्क. T20 World Cup: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि आगामी टी20 विश्वकप से पर्थ में लगने वाली तैयारी शिविर के दौरान टीम का प्राथमिक उद्देश्य ऑस्ट्रेलिया में ‘अलग तरह’ की गति और उछाल से अभ्यस्त होने की होगी. ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका पर घरेलू टी20 सीरीज में जीत के बाद द्रविड़ ने कहा कि, विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया के लिए जल्दी रवाना होने का मकसद खिलाड़ियों को वहां की परिस्थितियों के अनुकूल बनाना है, खासकर उन खिलाड़ियों के लिए जिन्होंने उस देश में अब तक नहीं खेला है.

बता दें कि, टीम इंडिया गुरुवार सुबह पर्थ के लिए रवाना होगी. टीम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा आयोजित अभ्यास मैचों के लिए ब्रिस्बेन जाने से पहले पर्थ में आपस में ही कुछ अभ्यास मैच खेलेगी. भारत अपने विश्वकप अभियान की शुरुआत 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ करेगा.

पहले रवाना होने का मकसद
द्रविड़ ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद कहा कि, हमें पर्थ में कुछ सत्र बिताने का मौका मिलेगा और फिर वहां कुछ मैच होंगे. ऑस्ट्रेलिया पिच पर गेंद की गति और उछाल के मामले में काफी अनोखा है और हमारे कई खिलाड़ियों ने ऑस्ट्रेलिया में ज्यादा टी-20 क्रिकेट नहीं खेला है. उन्होंने कहा कि, ऑस्ट्रेलिया के लिए पहले रवाना होने का मकसद टीम को अभ्यास के लिए समय देना है. ऑस्ट्रेलिया की गति और उछाल का अभ्यस्त होने में कुछ समय लगता है और उम्मीद है कि अभ्यास के बाद हम समझ पाएंगे की उन परिस्थितियों में हमें कैसे खेलना है. इससे रणनीति बनाने में आसानी होगी. इस पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ने कहा कि जल्दी ऑस्ट्रेलिया जाना महत्वपूर्ण है क्योंकि हमारे पास एक युवा टीम है जिसने ऑस्ट्रेलिया में बहुत अधिक क्रिकेट नहीं खेला है. इसलिए उम्मीद है कि इससे हमें मदद मिलेगी.

जसप्रीत बुमराह के विकल्प को लेकर कही ये बात
जसप्रीत बुमराह का पीठ की चोट के कारण विश्वकप से बाहर होना टीम के लिए बड़ा झटका है. भारतीय टीम ने पिछले कुछ मैचों में आखिरी ओवरों में काफी रन लुटाए हैं. उम्मीद है कि उनकी जगह टीम में मोहम्मद शमी को शामिल किया जाएगा. द्रविड़ ने कहा कि, बुमराह के विकल्प के संदर्भ में हम चीजों को देख रहे हैं, हमारे पास 15 अक्टूबर तक का समय है. शमी स्टैंडबाय में हैं, लेकिन दुर्भाग्य से वह इन 2 सीरीज में नहीं खेल सके. मुख्य कोच ने कहा कि यह उस नजरिए से आदर्श होता लेकिन वह इस समय राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में हैं. कोविड-19 से निपटने के 14-15 दिनों के बाद उनकी स्थिति क्या होगी इस पर हमें रिपोर्ट लेनी होगी. उन्होंने कहा कि पिछली 2 टी20 सीरीज से हमें वह मिला जो हम चाहते थे.

Related Articles

Back to top button