राशन वितरण में जमकर हो रहा भ्रष्टाचार, दुकान संचालक हितग्राहियों को कम दे रहा राशन और वसूल रहा पैसे, एसडीएम से हुई शिकायत

संदीप सिंह ठाकुर, लोरमी. गरीबों के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे सबसे महत्वपूर्ण योजना राशन वितरण योजना पर दुकान संचालक किस तरह जमकर भ्रष्टाचार कर रहे है. यह मुंगेली जिले में साफ दिखाई दे रहा है. दुकान संचालक हितग्राहियों के कार्ड से उनका नाम काटकर उनसे जबरन पैसे वसूल रहा हैं. इतना ही नहीं परिवार के सदस्य का नाम नहीं होना बताकर राशन भी कम दे रहा है. जबकि ऑनलाइन चेक करने पर पूरा राशन देना दिखा रहा है. अब सरपंच और ग्रामीणों ने मामले की शिकायत एसडीएम से शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है.

पूरा मामला मुंगेली जिले के लोरमी के ग्राम पंचायत चेचानडीह का सामने आया है. जहां राशन दुकान संचालक के द्वारा हितग्राहियों को शासन से निर्धारित नियमों को ताक पर रख कर जिन हितग्राहियों को ज्यादा मिलना है उन्हें किसी को 21 तो किसी को 14 किलो राशन वितरण किया जा रहा है, जबकि ऑनलाइन जानकारी निकलवाने पर उस हितग्राही का आबंटन 35 किलो दिया जाना दिखाई दे रहा है. वहीं ऐसे दर्जन भर हितग्राही हैं जिनको उनके अनपढ़ होने का फायदा उठाते हुए राशनकार्ड मे परिवार के किसी सदस्य का नाम कट जाने की बात कहते हुए परिवार के सदस्यों की संख्या अनुसार कम राशन दिया जा रहा है. साथ ही राशन दूकान संचालक द्वारा हितग्राहियों से बिना नाम कटे ही कम राशन देते हुए राशनकार्ड मे दोबारा नाम जुड़वाने के नाम पर तीन सौ रूपए जबर्दस्ती वसूली भी की जा रही है.

राशन दुकान संचालक लक्ष्मी ध्रुवे

वही इस मामले में राशन दुकान संचालक लक्ष्मी ध्रुवे का कहना है कि मेरे द्वारा किसी भी हितग्राही को कम राशन नहीं दिया जाता, लेकिन हितग्राहियों के राशन कार्ड की जानकारी ऑनलाइन साइट पर देखने से पता चलता है कि राशन दुकान संचालक के द्वारा इस तरह मनमानी करते हुए भ्रष्टाचार किया जा रहा है.

इस पूरे मामले में गांव के सरपंच सुशील यादव ने राशन दुकान संचालक से सही मात्रा में राशन देने की बात कही, लेकिन उनकी बात को अनदेखा करते हुए संचालक द्वारा भ्रष्टाचारी योजनाओं मे गड़बड़ी कर हितग्राहियों के हक पर डाका डाल रहे हैं और उनके खिलाफ की जा रही शिकायतों की भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है.

सहायक खाद्य अधिकारी विष्णु नारायण शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा इसकी शिकायत लोरमी एसडीएम से की गई है. जिनके द्वारा मुझे उक्त दुकान की जांच करने के लिए आदेशित किया गया है. जिस पर जल्द ही जांच की जाएगी और जांच में संचालक दोषी पाया जाता है तो उस पर मुकम्मल कार्रवाई की जाएगी.

फिलहाल इस पूरे मामले की शिकायत सरपंच और ग्रामीणों ने मिलकर लोरमी एसडीएम से करते हुए राशन दुकान संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. बता दें कि सरकार की महत्वाकांक्षी सार्वजनिक वितरण प्रणाली योजना के तहत गरीब तबके के लोगों को 1 रुपए प्रति किलो के हिसाब से चावल देने की योजना संचालित है. जिसके लिए प्रत्येक पंचायत में महिला समूहों के द्वारा शासकीय उचित मूल्य की दुकान संचालित कराई जा रही है.

बहरहाल अब देखना यह है कि चेचानडीह राशन दुकान में हो रही अनियमितता की शिकायत पर किस तरह की कार्रवाई अधिकारियों द्वारा की जाती है.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।