Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

सदफ हामिद, भोपाल। मध्यप्रदेश की सियासत में अब बाबा महाकाल की एंट्री हो गई है. पूर्व सीएम और पीसीसी चीफ कमलनाथ को महाकाल मंदिर में दर्शन की अनुमति नहीं देने पर कांग्रेस बीजेपी सरकार पर हमलावर हो गई है. कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कहा कि बीजेपी अब भगवान और भक्त के बीच में आ रही है. शिवराज की सरकार में जनता, विपक्ष और बीजेपी नेताओं के लिए अलग-अलग नियम हैं. पीसी शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अनुमति न देकर बीजेपी ने पाप किया है और इसका प्रायश्चित बीजेपी को भोगना पड़ेगा. 

दरअसल, 15 जनवरी को कमलनाथ ने महाकाल मंदिर में दर्शन करने के लिए अनुमति मांगी थी, लेकिन जिला प्रशासन ने कोरोना का हवाला देते हुए अनुमति देने से मना कर दिया. लेकिन उसके 2 दिन बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने नन्दीगृह में पूजा की थी, जिससे कांग्रेस भड़क गई है. पीसी शर्मा ने कहा कि जब वीडी शर्मा को अनुमति मिल सकती है तो पूर्व सीएम को अनुमति क्यों नहीं दी गई. यह सरकार की दोहरी नीति है. शिवराज सरकार में जनता, विपक्ष और बीजेपी नेताओं के लिए अलग-अलग नियम हैं. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अनुमति मिलनी जाना चाहिए थी, वो प्रदेश के मुख्यमंत्री और देश के मंत्री रहे हैं.

पीसी शर्मा ने कहा कि अमृता सिंह और सारा अली के द्वारा मंदिर में पूजा करने पर उनके ही बीजेपी सांसद अनिल फिरोजिया ने आपत्ति की थी. उसके पहले केरल के सांसद ने गर्भ गृह में जाकर पूजा की थी. बीजेपी का यह दोहरा चरित्र है. सरकार अब भक्त और भगवान के बीच में आ रही है.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का बयान

वहीं MP पंचायत चुनाव में 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण के मामले में  सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि मामला उलझता जा रहा है, इसके लिए बीजेपी जिम्मेदार है. कांग्रेस का एक ही स्टैंड है. ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण मिलना चाहिए. कांग्रेस ने 27 प्रतिशत आरक्षण दे दिया था, परिसीमन किया. वहीं उन्होंने कहा कि  पंच, सरपंच को बहाल किया गया है. अब पार्षद, महापौर को भी बहाल किया जाना चाहिए.

MP Panchayat Election Big News: सुप्रीम कोर्ट ने पंचायत चुनाव में आरक्षण पर OBC वर्ग को राहत दी, ट्रिपल टेस्ट के आधार पर आरक्षण देने का फैसला सुनाया

वहीं नई आबकारी नीति को लेकर भी पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि उमा भारती ने कहा था कि शराबबंदी को लेकर वो आंदोलन शुरू करेंगी. अब उमा भारती आंदोलन शुरू करें कांग्रेस पार्टी उनका साथ देगी. साथ ही पीसी शर्मा ने सीएम और पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि पहले बीजेपी ने घर-घर मोदी का नारा दिया था, अब सीएम शिवराज सिंह घर-घर शराब के माध्यम से जाने जाएंगे.

वहीं उन्होंने कहा एक तरफ, जहरीली शराब से लोगों की जान जा रही है. महंगाई सातवें आसमान पर है. बिजली के बड़े-बड़े बिल आ रहे हैं, किसानों को खाद नहीं मिल रही है. दूसरी तरफ, भारतीय जनता पार्टी की सरकार लोगों के घर-घर तक शराब पहुंचाने की बात कर रही है. बीजेपी नई पीढ़ी को बर्बाद करना चाहती है.

नई आबकारी नीति पर सियासतः सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, MLA कुणाल चौधरी बोले- माफिया बना रहे शराब नीति, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">
Share: